Scrutiny (स्क्रूटनी) का मतलब क्या होता है | Scrutiny Meaning in Hindi

Scrutiny (स्क्रूटनी) क्या है

किसी भी छात्र के लिए हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाओं में प्राप्त अंको का महत्व बहुत अधिक होता है| इन्ही अंको के आधार पर उन्हें उच्च शिक्षा के लिए प्रवेश प्राप्त होता है| इसलिए सभी छात्र 10वीं और 12वीं की पढाई पर विशेष ध्यान देते हुए अच्छे अंक प्राप्त करने का हर संभव प्रयास करते है| बहुत से छात्र पढ़ाई बहुत ही मन लगाकर करते है, और परीक्षाओं में प्रश्न पत्रों को पूर्णतया हल करते है| परन्तु जब परीक्षाफल आता है, तो छात्र के अनुसार उक्त विषय में बहुत ही कम अंक प्राप्त हुए है| जबकि छात्र को यह पूरा विश्वास है, कि उत्तर पुस्तिका में उसनें बिल्कुल सही उत्तर दिया है| ऐसी परिस्थिति में छात्र बहुत ही घबरा जाता है, और बहुत से छात्र अनुचित कदम भी उठा लेते है| इस प्रकार की स्थिति होनें पर छात्र के पास स्क्रूटनी का विकल्प होता है, जिसके माध्यम से वह उस विषय की उत्तर पुस्तिका की पुनः निरीक्षण करवा सकता है| आईये जानते है, कि Scrutiny (स्क्रूटनी) का मतलब क्या होता है | Scrutiny Meaning in Hindi |                         

Scrutiny (स्क्रूटनी) का मतलब क्या होता है

स्क्रूटनी एक अंग्रेजी शब्द है, जिसे हिंदी में हम संवीक्षा कहते है| स्क्रूटनी के अंतर्गत उत्तर पुस्तिका में दिए गये अंको को पुनः चेक किया जाता है| कभी-कभी शिक्षक द्वारा अनजानें में अंको का योग करनें में त्रुटि हो जाती है, किसी प्रश्न के अंक देना भूल गये आदि | स्क्रूटनी में इस प्रकार से जाँच कर सही किया जाता है| यहाँ पर यह स्पष्ट कर देना आवश्यक है कि परीक्षा में चेक किये गए प्रश्नों को पुनः चेक नहीं किया जाता है| यदि आपने किसी प्रश्न का उत्तर सही दिया है और वह पांच अंको का है और परीक्षक ने केवल दो अंक ही दिए है तो ऐसे प्रश्नों को दोबारा नहीं जांचा जाता है| स्क्रूटनी में केवल न जांचने वाले प्रश्नों को चेक किया जाता है और अंकों के योग को सही किया जाता है|

स्क्रूटनी के दौरान कभी-कभी छात्रों के अंक कम हो जाते है, ऐसी स्थिति में छात्रों को यह स्वीकार करना होगा| इसलिए स्क्रूटनी का फार्म तभी भरे जब आपको पूर्ण रूप से विश्वास हो कि आपनें उत्तर पुस्तिका में बिल्कुल सही लिखा है|  

स्क्रूटनी के नियम में संशोधन (Revision Of The Scrutiny Rules)

यूपी बोर्ड वर्ष 2020 से स्क्रूटनी के लिए एक बड़ा बदलाव कर दिया गया है, परीक्षा परिणाम अर्थात रिजल्ट घोषित किये जानें के बाद अब छात्र 25 दिन के अंदर ही स्क्रूटनी के लिए आवेदन करना होगा| चूँकि अभी तक स्क्रूटनी के लिए आवेदन ऑफलाइन माध्यम से किया जाता था, जिसके लिए 30 दिनों का दिया जाता था, परन्तु अब स्क्रूटनी के लिए ऑनलाइन आवेदन की सुविधा शुरू कर दी गयी है | किसी भी स्थिति में ऑफलाइन आवेदन स्वीकार नहीं किये जायेंगे| परीक्षा परिणाम घोषित होनें के बाद स्क्रूटनी के लिए ऑनलाइन आवेदन हेतु 25 दिन का समय निर्धारित है|

स्क्रूटनी के नियम (Scrutiny Rules)

  • कोई ऐसा छात्र जो अपने परीक्षा परिणाम से संतुष्ट नहीं है, तो यह विकल्प अपना सकता है| वह छात्र सभी विषयों की स्क्रूटनी के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकता है|
  • स्क्रूटनी के लिए प्रति विषय के अनुसार निर्धारित शुल्क ट्रेजरी में जमा करना होगा| अधिकांशतः यह शुल्क एसबीआई की ट्रेजरी ब्रांच में पूरा फॉर्म भरकर स्कूल से सत्यापित कराकर जमा कर सकते हैं| इसी तरह अन्य जिलों में भी एसबीआई की ट्रेजरी शाखा में छात्र फॉर्म और शुल्क जमा कर सकते हैं|
  • नए नियमनुसार परीक्षा परिणाम घोषित होने के 25 दिन के अंदर ही स्क्रूटनी के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है|

स्क्रूटनी हेतु आवेदन फार्म (Scrutiny Form)

शिक्षा विभाग द्वारा रिजल्ट जारी करनें के बाद बोर्ड द्वारा आधिकारिक वेबसाइट पर स्क्रूटनी फॉर्म के लिए आवेदन की मांग की जाती है| इच्छुक छात्र वेबसाइट के माध्यम से आवेदन कर सकते है|  स्क्रूटनी के लिए आवेदन करनें हेतु आपको निर्धारित शुल्क का भुगतान भी करना होता है, जो प्रति प्रश्न पत्र के अनुसार होता है|  

स्क्रूटनी परीक्षा परिणाम (Scrutiny Result)

यदि किसी छात्र द्वारा स्क्रूटनी के लिए आवेदन किया जाता है, तो शिक्षा बोर्ड द्वारा उनकी उत्तर पुस्तिकाओं का दोबारा से निरीक्षण किया जाता है| यदि उसमें किसी प्रकार की कोई गलती पाई जाती है तो उसमें सुधार किया जाता है| इसके उपरांत निर्धारित तिथि को स्क्रूटनी रिजल्ट बोर्ड की वेबसाइट पर जारी कर दिया जाता है| स्क्रूटनी के दौरान परीक्षा परिणाम में कई छात्रों के अंक बढ़ जाते है और कई छात्रों के अंक नहीं बढ़ते है|

यूपी बोर्ड 10 वीं और 12 वीं कक्षा की प्रतिलिपि के लिए आवेदन कैसे करें?

  • सबसे पहले यूपीएमएसपी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं या लिंक पर क्लिक करें।
  • यूपी 10 वीं और 12 वीं परीक्षा प्रति मूल्यांकन मूल्यांकन पर क्लिक करें|
  • अपना रोल कोड दर्ज करें और रोल नंबर दर्ज करें।
  • विषय का चयन करे जिसके लिए आप मूल्यांकन चाहते हैं।
  • भुगतान शुल्क ऑनलाइन या विकल्प जो प्रदान किया जाता है।

स्क्रूटनी फॉर्म भरनें से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी

स्क्रूटनी फॉर्म भरते समय आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि कॉपी जांचने के बाद आने वाले सभी अंक स्वीकार किए जाएंगे। आमतौर पर जांच के बाद अंकों में कोई महत्वपूर्ण बदलाव नहीं होता है, परन्तु यदि पुनर्मूल्यांकन में अंक कम हो जाते हैं, तो छात्र को वह अंक स्वीकार करना होगा। इसलिए, यदि आपको लगता है कि आपकी परीक्षा अच्छी तरह से हुई थी, लेकिन परिणाम उस तरह से नहीं आया है, तो केवल फिर से कॉपी जांचने के लिए आवेदन करे।