जीएनपी (GNP) और एनएनपी (NNP) का फुल फॉर्म क्या है | GNP और NNP में अंतर

जीएनपी (GNP) और एनएनपी (NNP) से सम्बन्धित

किसी भी देश की अर्थ व्यवस्था की स्थिति के आधार पर उस देश की उस देश के विकास के स्तर को मापा जा सकता है, तथा अर्थ व्यवस्था के आधार पर ही यह निश्चित किया जाता है कि देश का विकास का स्तर बढ़ा है या घटा है | देश की आर्थिक स्थिति को मापने के लिए महान अर्थशास्त्रीयों ने कई प्रकार के नियम बनाये है, जिसके द्वारा देश की अर्थव्यवस्था की स्थिति को मापा जा सकता है | भारतीय रिज़र्व बैंक (Reserve Bank of India) तथा केंद्र सरकार की नीतिया देश की अर्थ व्यवस्था को गतिवान बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है| घरेलू उधोगो से निर्मित होने वाले सभी उत्पादों के मूल्यो  की गणना जीएनपी (GNP) के अंतर्गत की जाती है तथा किसी भी देश के नागरिक के द्वारा उत्पादित वस्तु या सेवा की गणना एनएनपी (NNP) के अंतर्गत की जाती है| भारत की अर्थ व्यवस्था को मापने में एनएनपी (NNP) तथा जीएनपी (GNP) का विशेष महत्व है, यहाँ पर आपको “जीएनपी (GNP) और एनएनपी (NNP) का फुल फॉर्म क्या है, GNP और NNP में अंतर के विषय में पूरी जानकारी उपलब्ध कराई गयी है|

जीएनपी का अर्थ तथा फुलफॉर्म (Meaning & Full Form of GNP)

जीएनपी (GNP)का फुल फॉर्म “Gross National Product” (ग्रास नेशनल प्रोडक्ट) होता है, तथा इसे हिंदी भाषा में “सकल राष्ट्रीय उत्पाद” कहते है| किसी भी देश के एक वित्तीय वर्ष में देश में उत्‍पादित होने वाली वस्‍तुओं तथा  सेवाओं के आखिरी मौद्रिक मूल्‍य को “सकल राष्ट्रीय उत्पाद” (Gross National Product ) या जीएनपी (GNP) कहते है| यदि कोई भारतीय व्यक्ति दूसरे देश में जाकर व्यापार या नौकरी करता है, तथा उस व्यापार से होने वाले लाभ को भारत में भेजता है, तो इस लाभ को जीएनपी (GNP) में ही जोड़ा जाता है तथा इसके विपरीत जब कोई विदेशी व्यक्ति या संस्था भारत में आकर नौकरी या व्यापार करता है, तो उससे होने वाले लाभ को भारत के बाहर विदेश में भेजते है, तब इस लाभ को जीएनपी (GNP) से घटाया जाता है|

एनएनपी का अर्थ तथा फुलफॉर्म (Meaning & Full Form of NNP)

एनएनपी (NNP) फुल फॉर्म “Net National Product” (नेट नेशनल प्रोडक्ट) होता है, तथा इसे हिंदी भाषा में “शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद” कहा जाता है| सकल राष्ट्रीय उत्पाद की लागत के मूल्य में होने वाले मूल्यह्रास को हटाने के बाद जो शेष बचता है, उसे एनएनपी (NNP) या “शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद” कहते है | जब कोई भारतीय व्यक्ति तथा  भारतीय संस्था या कंपनी विदेश में जाकर नौकरी या व्यापार करता है, एक वित्तीय वर्ष में जितनी लागत के मूल्य में कमी आती है उस कमी को जीएनपी (GNP) में घटा दिया जाता है | जैसे व्यापार के उद्देश्य से जब किसी मशीन या यन्त्र को ख़रीदा जाता है, तथा एक वित्तीय वर्ष में उसकी कीमत में जितनी कमी आएगी उसे जीएनपी (GNP) में घटाया जायेगा |

उदाहरण के लिए यदि किसी मशीन की कीमत 500 रुपये है, तथा एक वर्ष बाद उसकी कीमत 400 ही रह जाती है, जीएनपी (GNP) में कटौती 100 रुपये की कर दी जाएगी, तथा इस मशीन के द्वारा जो लाभ प्राप्त होगा उसे एनएनपी (NNP) कहा जायेगा |

जीएनपी और एनएनपी में अंतर (Difference Between GNP & NNP)

  • जीएनपी (GNP) में देश या विदेश से प्राप्य होने वाली आय को जोड़ा जाता है, जबकि एनएनपी (NNP) के अंतर्गत  लगने वाली लागत में होने वाली कमी को घटाया जाता है |
  • जीएनपी (GNP) को “ग्रास नेशनल प्रोडक्ट” तथा एनएनपी (NNP) को “नेट नेशनल प्रोडक्ट” कहा जाता है |

जीएनपी तथा एनएनपी बीच संबंध (Relation Between GNP and NNP)

NNP = GNP (जीएनपी) – Depreciation (मूल्यह्रास)

इस आर्टिकल में आपको जीएनपी (GNP) और एनएनपी (NNP) का अर्थ तथा फुल फॉर्म क्या है, जीएनपी (GNP) और एनएनपी (NNP) में क्या अंतर है इसके विषय में जानकारी उपलब्ध कराई गयी है अब उम्मीद है कि आपको जानकरी पसंद आयी होगी|