सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) क्या है? |Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi

Sukanya Samriddhi Yojana In Hindi- हमारे देश में लगभग सभी पिता अपनी बेटियों को अच्छी से अच्छी शिक्षा देना चाहते है, परन्तु पैसे की कमी के कारण वह ऐसा नहीं कर पाते है | हालाँकि बेटियों को बेहतर तथा उच्च शिक्षा देने के लिए सरकार द्वारा निरंतर प्रयास जारी है | इसके लिए सरकार द्वारा समय-समय पर अनेक प्रकार की योजनायें लांच की जाती है | इन्ही योजनाओं में से एक सुकन्‍या समृद्धि योजना है, यह एक ऐसी योजना है जिसमें केंद्र सरकार स्‍वयं बेटियों की पढ़ाई का खर्च उठाने में लोगों की मदद करती है। इस योजना के अंतर्गत आप छोटी छोटी बचत करके अपनी बेटी के उज्जवल भविष्य, अच्छी शिक्षा के साथ ही उनके सपनों को पूरा कर सकते हैं।

Sukanya Samriddhi Yojana In Hindi

आइये जानते हैं, सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) क्या है (Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi), इसके लिए पात्रता, दस्तावेज़ और आवेदन तथा 250 जमा करने पर कितना मिलेगा प्रकिया के बारे में पूरी जानकारी |

UP Kanya Sumangala Yojana क्या है

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है (SukanyaSamriddhiYojana)

बेटियों के लिए केन्द्र सरकार की एक बचत योजना है | इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना’ के अंतर्गत 2 दिसंबर 2014 को की गई थी। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत कोई भी नागरिक बेटी के जन्म से लेकर 10 वर्ष की आयु तक अपने किसी नजदीकी पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक में खाता (Account) खुलवा सकता है। इस योजना में आप खाता कम से कम 250 रूपये में खुलवा सकते है, तथा इसमें अधिकतम 1लाख 50 हजार रूपये जमा कराये जा सकते है |

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के बाद उनके माता-पिता को सिर्फ 14 वर्षो तक निवेश करना है, परन्तु आप इस पैसे को तब तक निकाल नहीं सकते जब तक कि बेटी 18 वर्ष की आयु पूर्ण नही कर लेती | बेटी के 18 वर्ष की आयु पूरी करनें के पश्चात आप 50 प्रतिशत राशि की निकासी कर सकते है | आपको बता दें, कि इस खाते की मेच्योरिटी की समय-सीमा 21 वर्ष है | यदि बेटी की आयु 18 वर्ष से अधिक है, और कन्या का विवाह होना है। तो इस खाते को समय से पूर्व ही बंद किया जा सकता है, और संपूर्ण धनराशि को निकाला जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य (Sukanya Samriddhi Yojana In Hindi)

सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना शुरू करने का मुख्य उद्देश्य देश के सभी लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देना, और उनकी शादी पर आने वाले खर्च को आसानी से पूरा करना है | इस ओजना के अंतर्गत निवेश करने के बाद कोई भी पिता अपनी बेटी को उच्च और बेहतर शिक्षा देने के साथ ही अपनी बेटी का विवाह चिंतामुक्त होकर कर सकता है |

योजना के अंतर्गत अकाउंट कौन खोल सकता है (Who Can Open Account Under The Scheme)

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत यह अकाउंट जन्म से लेकर 10 वर्ष की आयु तक बेटी के नाम पर ही खोला जा सकता है | यदि बेटी की आयु 10 वर्ष से अधिक है, तो इस योजना के अंतर्गत अकाउंट ओपन नही किया जा सकता | यदि कोई बेटी सुकन्या समृद्धि खाता खोलनें के बाद एनआरआई (NRI) बन जाती है, तो उन्हें इस योजना का लाभ प्राप्त नही होगा |

इस योजना के अंतर्गत आप एक बेटी के नाम से सिर्फ एक ही खाता खोल सकते हैं | यदि किसी माता-पिता की पहली संतान बेटी है और दूसरी संतान के रूप में दो जुड़वा बेटियां होती है, तब आप तीसरा खाता ओपन करवा सकते हैं, परन्तु ऐसी स्थिति में माता-पिता को मेडिकल प्रमाण पत्र जमा करना अनिवार्य है।

इस योजना के लिए सरकार द्वारा ब्याज का निर्धारण प्रतिवर्ष हर तिमाही की शुरुआत में किया जाता है | Sukanya Samriddhi Yojana In Hindi हालाँकि वर्तमान समय में इस योजना पर मौजूदा ब्याज दर 7.6 फीसद है। यह चक्रवृद्धि सालाना ब्याज दर है। यदि किसी व्यक्ति द्वारा बेटी की कम उम्र रहते इस स्कीम में निवेश शुरू कर देता है, तो वह 15 साल तक इस योजना में निवेश कर सकता है। आप यह खाता एक परिवार की अधिकतम 2 बेटियों के लिए खुलवा सकते है।

स्वनिधि योजना (SVANidhi Yojana) क्या है

सुकन्या समृद्धि योजना हेतु आवश्यक दस्तावेज (SSY Documents)

सुकन्या समृद्धि योजना से लाभ (Sukanya Samriddhi Yojana Benefit)

  • एसएसवाई (SSY) योजना के अंतर्गत जमा की गई राशि पर आपको किसी प्रकार का टैक्स (Tax) नहीं देना है, तथा इस पर मिलने वाला ब्याज भी करमुक्त है।
  • इस योजना के अंतर्गत 9.2 प्रतिशत का ब्याज (Interest) प्रदान किया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत बेटी के 18 वर्ष की आयु पूरी करने पर वह पढ़ाई के लिए पैसे निकाल सकती है। इसके साथ 21 वर्ष होने पर वह विवाह के लिए संपूर्ण धनराशि निकाल सकती है।
  • इस योजना के अंतर्गत खोले गए खाते को आप कभी भी किसी भी बैंक से अथवा पोस्ट ऑफिस से किसी दूसरी बैंक या पोस्ट ऑफिस के ब्रांच में ट्रान्सफर कर सकते हैं।

250 जमा करने पर कितना मिलेगा

इस स्कीम के अंतर्गत आप कम से कम 250 रुपये और अधिक से अधिक 1.5 लाख रुपये तक जमा कर सकते है | यदि आप प्रतिमाह 250 रुपये जमा करते है, तो 21 वर्ष बाद आपको 15 लाख 27 हजार 637 रुपए मिलेंगे | आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि वर्तमान समय में 7.6 प्रतिशत की दर से ब्याज दिया जा रहा है |

ग्रामीण डाक सेवक क्या है

1000 रुपये जमा करने पर कितना मिलेगा

यदि आप अपनी बेटी के नाम से 1000 रुपये प्रतिमाह जमा करते है, तो आपको ब्याज मिलाकर कुल 21 वर्ष बाद 5 लाख 9 हजार 212 रूपये मिलेंगे | यह कैसे मिलेंगे इसका विवरण इस प्रकार है-

1000 प्रतिमाह जमा करने पर 1 वर्ष में1000X12 = 12,000 हजार रुपये
15 वर्ष तक जमा करनें पर (15X12=180 माह)1000X180= 1,80,000 हजार रुपये
7.6 प्रतिशत के हिसाब से इसमें कुल ब्याज3,29,212 रुपए
21 वर्ष बादजमा राशि + ब्याज सहित कुल पैसे वापस मिलेंगे5,09,212 रुपए

कितनी धनराशि पर कितना पैसावापस मिलेगा

जमा धनराशि (प्रतिमाह)21 वर्ष बाद मिलनें वाला धन
2000 रुपए जमा करने पर10 लाख 18 हजार 425 रुपए
3000 रुपए जमा करने पर15 लाख 27 हजार 637 रुपए मिलेंगे
4000 रुपए जमा करने पर20 लाख 36 हजार 850 रुपए
5000 रुपए जमा करने25 लाख 46 हजार 62 रुपए
10000 रुपए जमा करने पर50 लाख 92 हजार 124 रुपए मिलेंगे
12000 रुपए जमा करने पर61 लाख 10 हजार 549 रुपए

सुकन्या समृद्धि योजना ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया (SSY Offline Apply)

  • ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आपको सभी आवश्यक दस्तावेजों को लेकर अपने नजदीकी किसी बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में जाना होगा।
  • बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस से सुकन्या समृद्धि योजना फार्म प्राप्त कर आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी को सही-सही अंकित करे।
  • इसके साथ ही आप को आवेदन पत्र में आवश्यक सभी दस्तावेजों की फोटो कॉपी भी संलग्न करना होगा।
  • सभी जानकारी सही-सही भरने और आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करने के पश्चात अपना आवेदन पत्र बैंक या डाकघर में जमा करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म जमा करने के पश्चात बैंक अथवा डाकघर द्वारा आवेदन पत्र की जांच की जाएगी। और उसके पश्चात खाता खोल दिया जाएगा।
  • खाता खोलने के पश्चात बैंक और डाकघर द्वारा आपको पासबुक भी प्रदान की जाएगी। जिसमें आप के सभी लेन-देन का विवरण प्रदान किया जाएगा।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) क्या है