गेट एग्जाम (Gate Exam) क्या है | योग्यता | परीक्षा पैटर्न | परीक्षा की तैयारी कैसे करे

गेट एग्जाम (Gate Exam)

गेट का फुल फॉर्म ग्रेजुएट एप्टीटियूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग है| यह एक कंप्यूटर आधारित टेस्ट है, जिसका आयोजन राष्ट्रीय स्तर पर किया जाता है। इसके आधार पर पोस्ट ग्रैजुएट इंजीनियरिंग और साइंस विषयों में प्रवेश मिलता है। गेट एग्जाम का आयोजन इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस, आईआईटी, नेशनल कोर्डिनेशन बोर्ड-गेट, डिपार्टमेंट ऑफ़ हायर एजुकेशन, मानव संसाधन विकास मंत्रालय और भारत सरकार मिल कर करती है| इस परीक्षा के माध्यम से ऐसे विद्यार्थियों का मूल्यांकन किया जाता है, जो भारत के प्रीमियम संस्थानों में उच्च अध्ययन के लिए योग्यता रखते है। गेट एग्जाम क्या है, योग्यता और परीक्षा पैटर्न के बारें में आपको यहाँ विस्तार से जानकारी दे रहे है|

गेट एग्जाम क्या है (What Is Gate Exam)   

गेट एग्जाम को राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा के रूप में आयोजित की जाती है| । गेट एग्जाम के आधार पर मास्टर ऑफ इंजिनियरिंग, मास्टर ऑफ टेक्नॉलजी और डॉक्टर ऑफ फिलॉस्फी में प्रवेश प्राप्त होता है। इसके आधार पर जर्मनी, सिंगापुर की कुछ युनिवर्सिटियों में भी दाखिला मिलता है। इस परीक्षा को भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान संस्थान द्वारा, राष्ट्रीय समन्वय बोर्ड गेट (GATE) उच्च शिक्षा विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) भारत सरकार और सात भारतीय प्रौद्योगकी संस्थान (आईआईटी) के माध्यम से आयोजित किया जाता है | गेट एग्जाम में अब  बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, इथोपिया और संयुक्त अरब अमीरात के छात्र भी शामिल हो सकते हैं।

योग्यता (Eligibility for GATE Exam)

  • इंजीनियरिंग/टेक्नोलॉजी/आर्किटेक्चर में स्नातक डिग्री (10+2, पोस्ट बीएससी, पोस्ट डिप्लोमा के बाद 4 साल की डिग्री)|
  • विज्ञान / गणित / सांख्यिकी / कम्प्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर डिग्री धारक या इन ब्रांच में अंतिम वर्ष के विद्यार्थी शामिल हो सकते है|

गेट एग्जाम पैटर्न (GATE Exam Pattern)

गेट परीक्षा का आयोजन ऑनलाइन माध्यम से किया जाता है। इस परीक्षा में तीन सेक्शन होते है, और तीन सेक्शनों यानी जनरल ऐप्टिट्यूड, इंजिनियरिंग मैथमेटिक्स और विशिष्ट विषय से प्रश्न पूछे जाते है।  सभी सेक्शनों से कुल 65 प्रश्न पूछे जाते हैं और सभी प्रश्न मल्टिपल चॉइस और न्यूमेरिकल टाइप होते हैं। परीक्षा का पूर्णांक 100 अंकों का होता है, तथा परीक्षा के लिए कुल 3 घंटे का समय निर्धारित होता है।

भाग प्रश्न स० अंक समय
प्रश्न पत्र -1501001 घंटा
प्रश्न पत्र -11002002 घंटे
कुल 150 300 3 घंटे

मार्किंग स्कीम (Marking Scheme)

मल्टिपल चाइस और न्यूमेरिकल के प्रश्न 2 नंबर के होंगे। एक नंबर वाले मल्टिपल चॉइस में गलत जवाब के लिए 1/3 मार्क्स अतिरिक्त कटेंगे और 2 नंबर वाले सवालों में गलती होने पर 2/3 मार्क्स अतिरिक्त काटे जाएंगे। न्यूमेरिकल टाइप सवालों के लिए कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी।

जनरल ऐप्टिट्यूड में 1 नंबर के 5 सवाल और 2 नंबर के 5 सवाल पूछे जाते हैं। इस तरह कुल 15 नंबर के 10 सवाल होंगे। जीजी, एक्सई और एक्सएल को छोड़कर बाकी सेक्शन में 1 नंबर के 25 सवाल और 2 मार्क्स के 30 सवाल होते है।

गेट एग्जाम तैयारी के टिप्स (GATE Exam Preparation Tips)

अगर आप गेट एग्जाम देना चाहते हैं तो आपको इसकी तैयारी के लिए उचित स्ट्रैटिजी बनानी होगी। नीचे बताए गए तरीके से आपको तैयारी में काफी मदद मिलेगी।

गेट एग्जाम सिलेबस और एग्जाम पैटर्न समझे (GATE Exam Syllabus & Pattern)

परीक्षा में सफलता प्राप्त करनें के लिए सबसे पहले आप गेट एग्जाम सिलेबस और एग्जाम पैटर्न को समझे, जिससे आप अपनी तैयारी बेहतर तरीके से कर सकते है| परीक्षा में  2 अंक और 1 अंक वाले प्रश्नों की पहचान करें । सभी 65 प्रश्नों के जवाब के लिए 180 मिनट का समय दिया जाता है इसलिए ज्यादा अंक वाले सवालों को पहले हल करने की कोशिश करे, इसके साथ ही आप गेट एग्जाम का सिलेबस गेट की ऑफिशल साइट पर देख सकते है| 

गेट एग्जाम के लिए बुक्स का चयन (Choose GATE Exam Books)

गेट एग्जाम के लिए मार्केट में अनेक प्रकार कि बुक्स उपलब्ध है, इनमें से कौन सी आपके लिए सबसे सही है इसका चुनाव सावधानी से करे। परीक्षा के लिए आप सिर्फ मुख्यतः 3-4 बुक ही पढ़ें क्योंकि जितनी अधिक बुक्स पढ़ेंगे उतना अधिक कन्फ्यूज होने के चांस बढ़ेंगे। हालांकि गेट का सिलेबस विशाल है और एक किताब से यह पूरी तरह कवर भी नहीं होगा। अगर आपको एक किताब में से कुछ समझ नहीं आ रहा है तो दूसरी या तीसरी किताब का सहारा ले सकते हैं। गेट एग्जाम के लिए अधिकतर प्रसिद्ध लेखकों की किताब ही पढ़ें तो ज्यादा बेहतर है।

पुराने क्वेश्चन पेपर को हल करे (Solve Old Question Paper)

पुराने गेट एग्जाम के क्वेचन पेपर को हल करने से बेहतर और कुछ नहीं है इससे न केवल आपको पैटर्न और सिलेबस समझने में मदद मिलेगी बल्कि आपका कॉन्फिडेंस भी बढ़ेगा। ध्यान रखें कि सवाल को हल करना ही काफी नहीं है बल्कि उन्हे कम-कम समय में पूरे कॉन्फिडेंस के साथ हल करें। अगर आप सवालों का उत्तर देने में ज्यादा समय लगाते हैं तो आखिर में दूसरे सवाल छूटने के चांस बढ़ जाते हैं।

विषय के अनुसार तैयारी करे (Prepare By Topic)

गेट एग्जाम के तैयारी विषय के हिसाब से करे। सबसे पहले आप पिछले वर्ष का एग्जाम पैटर्न देखें। इससे आपके पता चल जाएगा कि किस विषय और किस सेक्शन से ज्यादा प्रश्न पूछे जाते हैं। क्योंकि गेट एग्जाम में प्रश्न कुछ विषय से ज्यादा प्रश्न पूछे जाते हैं और एग्जाम में उनका वेटेज ज्यादा होता है। इसलिए अगर आपक ज्यादा वेटेज दिलाने वाले विषयों की तैयारी सही से करेंगे तो गेट एग्जाम में आपका स्कोर अच्छा आएगा।

टाइम मैनेजमेंट (Time Management)

गेट एग्जाम की तैयारी करते समय टाइम का विशेष ध्यान रखे । ऐसा करने से आप सभी विषयों पर बराबर समय दे पाएंगे| कोई भी प्रश्न हल करते समय उसका टाइम अवश्य काउंट करें। यदि किसी प्रश्न को हल करने में आपको समय अधिक लग रहा है तो उसे बाद में करे और अपनी स्पीड बढ़ाने पर भी ध्यान दे।

हर पंद्रह दिन पर करे रिवीजन

गेट एग्जाम की तैयारी करते समय हर 15 दिन बाद पूर्व में पढ़े गए टॉपिक का रिवीजन करे। ऐसा करने से आप पूराने टॉपिक को नहीं भूलेंगे। इसके साथ ही तैयारी करते समय हर विषय की एक अलग नोट्स बनाये, ताकि रिवीजन करने में आसानी हो।