फास्टैग क्या है | नियम | FASTag Mandatory Information in Hindi

फास्टैग (FASTag) से सम्बंधित जानकारी

देश में यात्रियों की सुविधा के लिए इलेक्ट्रॉनिक टोल को बढ़ावा दिया जा रहा है | भारत में फास्टैग स्कीम की शुरुआत वर्ष 2014 में हुई थी, और 15 दिसंबर 2019 से इसे पूरे भारत में लागू कर दिया गया था | यदि आपके पास भी किसी प्रकार का चार पहिया वाहन है, तो आपको अपनें वाहन पर फ़ास्ट टैग लगवाना आवश्यक है | फ़ास्ट टैग के माध्यम से टोल प्लाजाओं पर लगने वाली भीड़ अर्थात ट्राफिक की समस्या को कम किया जा सकता है |

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय 1 जनवरी 2021 से सभी चार पहिया वाहनों के लिए फास्टैग को अनिवार्य करनें के साथ ही वाहनों का बीमा और फिटनेस सर्टिफिकेट रिन्युअल से सम्बंधित कुछ नये नियम लागू करनें जा रहा है| तो आईये जानते है, कि फास्टैग क्या है और फास्टैग से सम्बंधित नये नियमों के बारें में |   

फास्टैग क्या है (What is Fastag)

फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है, और इसे वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है| फास्‍टैग में रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) का प्रयोग किया जाता है | आपका वाहन जैसे ही टोल प्लाजा के नजदीक आता है, तो टोल प्लाजा में लगे सेंसर वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे फास्टैग को ट्रैक कर लेते है और टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क फास्‍टैग अकाउंट से अपने आप कट जाता है| इस प्रकार आप टोल प्‍लाजा पर बिना समय व्यर्थ किये टोल टैक्‍स का भुगतान कर देते है |  

फ़ास्टैग कहाँ से ख़रीदे (Where to buy Fastag)

वर्तमान समय में नए वाहन का रजिस्ट्रेशन करते समय ही फास्‍टैग उपलब्‍ध करा दिया जाता है, यदि आप पुरानें वाहन स्वामी है तो आप इसे इन स्थानों से खरीद सकते है, जो इस प्रकार है-   

  • फास्‍टैग सभी सरकारी और प्राइवेट बैंक जैसे – स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI), आईसीआईसीआई  बैंक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक आदि से खरीद सकते है|
  • अमेज़न, पेटीएम डॉट कॉम से ऑनलाइन खरीद सकते है।
  • आप फास्‍टैग हिंदुस्तान पेट्रोलियम, इंडियन आयल कारपोरेशन, भारत पेट्रोलियम के पेट्रोल पम्प से प्राप्त कर सकते है।
  • नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया द्वारा संचालित My FASTag और FASTag Partner  मोबाइल एप की सहायता से खरीद सकते है।

फ़ास्टैग खरीदने का शुल्क (Fastag Purchase Fee)

फ़ास्टैग खरीदने के लिए फ़ास्टैग फीस के साथ-साथ सिक्यूरिटी फीस भी जमा करना होता है | टोल प्लाजा पर कटनें वाला शुल्क आपके वाहन के प्रकार पर निर्भर करता है, जबकि फ़ास्टैग की सिक्यूरिटी फीस रिफंडेबल होती है, जो फ़ास्टैग एकाउंट बंद करनें पर वापस कर दी जाती है | आप अपनें फ़ास्टैग एकाउंट को कम से कम 100 रुपये और अधिकतम रु 1 लाख रुपये तक रिचार्ज करा सकते है | 

फास्टैग से सम्बंधित नये नियमों की जानकारी (Information Of Fastag Related New Rules)

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय नें वर्ष 2017 में राष्ट्रीय राजमार्गों पर फास्टैग व्यवस्था चरणबद्ध तरीके से लागू करना शुरू किया था | पहले चरण के अंतर्गत टोल प्लाजा में दोनों दिशाओं से आने वाले वाहनों के लिए एक-एक लेन फास्टैग के लिए आरक्षित की गई थी और शेष सभी लेन नगद भुगतान के लिए राखी गयी थी| वर्ष 2020 में इस व्यवस्था को पूरी तरह से बदल दिया गया है | इस समय राष्ट्रीय राजमार्गों पर बने टोल प्लाजा में एक-एक लेन नकद लेन-देन के लिए शेष सभी लेन फास्टैग लगे वाहनों के लिए आरक्षित कर दी गई हैं |

सरकार अब इस दिशा में एक कदम आगे बढ़ते हुए नये नियम लागू करनें जा रही है | भारत सरकार के सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय नें 1 जनवरी 2021 से सभी चार पहिया वाहनों के लिए फ़ास्टैग को अनिवार्य कर दिया है | सरकार द्वारा इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी कर दिया है| यह ने नियम पुराने वाहनों के साथ M और N कैटेगरी के मोटर वाहनों पर भी लागू होगा, जिनकी बिक्री 1 दिसंबर 2017 से पहले हुई है | 1 जनवरी 2021 से प्रभावी होनें वाले नये नियम इस प्रकार है –  

बिना फास्टैग नहीं होगा वाहनों का इंश्योरेंस (Vehicles Not Insured Without Fastag)

नये नियमों के मुताबिक, वाहन का इंश्योरेंस करवानें के लिए  फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया है| ‘नए गाइडलाइंस में कहा गया है, कि नया थर्ड पार्टी बीमा प्राप्त करते समय एक वैध फास्टैग जरूरी है, जिसमें फास्टैग आईडी की डीटेल कैप्चर की जाएगी’ यह नियम फार्म 51 (बीमा का प्रमाण पत्र) में संशोधन के जरिये बनाया गया है| कहनें का आशय यह है, कि बिना फास्टैग अब आप अपनें चार पहिया वाहन का इंश्योरेंस नहीं करवा पाएंगे|

बिना फास्टैग नहीं होगा फिटनेस सर्टिफिकेट रिन्युअल (Fitness Certificate Not Renewed Without Fastag)

केंद्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 में संशोधन को लेकर मंत्रालय द्वारा 6 नवंबर 2020 को एक अधिसूचना जारी कि जा चुकी है। केंद्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 के अनुसार, 1 दिसंबर 2017 से नए चार पहिया वाहनों के सभी प्रकार के रजिस्ट्रेशन के लिए फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया था और वाहन डीलर या उनके विनिर्माता फास्टैग की आपूर्ति कर रहे हैं। साथ ही यह अनिवार्य किया गया था, कि परिवहन वाहनों के लिए फास्टैग लगने के बाद ही फिटनेस प्रमाणपत्र का नवीनीकरण किया जाएगा |