आर. ए. एस. (RAS) ऑफिसर कैसे बने | योग्यता | सैलरी | कार्य | पूरी जानकरी

आर. ए. एस. (RAS) ऑफिसर से सम्बन्धित जानकारी

राज्य स्तर पर आर. ए. एस. राजस्थान राज्य का सबसे बड़ा एवं सम्माननीय अधिकारिक पद होता है तथा आर. ए. एस. का फुलफॉर्म “राजस्थान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस (Rajasthan Administrative Service)” होता है जिसे हिंदी में  राजस्थान प्रशासनिक सेवा कहते है | आर. ए. एस. शासन तथा प्रबंध विभाग का कर्मचारी होता है जिसे सिविलियन पोस्ट भी कहते है इस पदाधिकारी के पास कई अधिकार होते है, जिनका प्रयोग जनता के हित में किया जाता है| आर. ए. एस. पद के लिए प्रतियोगी परीक्षाओ का आयोजन किया जाता है, परीक्षा में सफल होने के बाद ही इस पद पर चयन होता है| राजस्थान राज्य का प्रत्येक युवा वर्ग इस पद को प्राप्त करना चाहता है | आर. ए. एस. पद के लिए प्रतियोगी परीक्षाओ का आयोजन किया जाता है |  इस पृष्ठ पर आपको “आर. ए. एस. (RAS) ऑफिसर कैसे बने” योग्यता, कार्य, चयन प्रक्रिया इसके विषय में आपको सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की जा रही है |

राजस्थान प्रशासनिक सेवा (आरएएस) क्या है?

आरएएस राजस्थान राज्य स्तर पर एक आधिकारिक पद होता है, जिसके चयन के लिए  राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन  (Rajasthan Public Service Commission) के द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओ का आयोजन किया जाता है | परीक्षा के विभिन्न चरणों के बाद इस पद के लिए अभ्यर्थी का चयन किया जाता है तथा इस परीक्षा का आयोजन वर्ष में एक बार किया जाता है| RAS परीक्षा के द्वारा राजस्थान राज्य के प्रशासनिक विभागों में ग्रुप ए तथा ग्रुप बी स्तर के कर्मचारियों तथा अधिकारियो की नियुक्ति की जाती है| आर. ए. एस अधिकारी में पास अधिकार होने के साथ-साथ कार्य क्षेत्र में कई जिम्मेदारियां भी होती है जिसके प्रति उसकी जवाबदेही भी होती है तथा अपने अधिकारों का प्रयोग जनता के हित में करना होता है, आरएएस अधिकारी को राज्य सरकार के निर्देशों का अनुसरण भी करना होता है| 

राजस्थान प्रशासनिक सेवा पद के लिए योग्यता

आरएएस (RAS) अधिकारी की परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए आपका किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक पास होना अनिवार्य है साथ ही आप किसी भी संकाय से स्नातक परीक्षा उत्तीर्ण कर सकते है तथा अच्छे प्राप्तांको का होना आवश्यक है|

राजस्थान प्रशासनिक सेवा पद के लिए आयुसीमा

आरएएस के लिए निर्धारित आयु सीमा 21 वर्ष से 35 वर्ष के मध्य होनी चाहिए तथा  आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को सरकार के नियमानुसार वरीयता प्रदान की गयी है |

आरएएस अधिकारी का वेतन

राजस्थान राज्य में आर.ए.एस. अधिकारी का वेतन 15600 से 39100 (GP – 5400) रुपये तक होता है |

आरएएस अधिकारी की चयन प्रक्रिया

राजस्थान सरकार के द्वारा आरएएस अधिकारी की परीक्षा के लिए प्रतिवर्ष विज्ञापन द्वारा संचालन किया जाता है तथा इसके बाद आरएएस पद के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है यह परीक्षाएं तीन चरणों में पूर्ण होती है जो इस प्रकार है

  • प्रारम्भिक परीक्षा ( Preliminary Exam )
  • मुख्य परीक्षा (Main Exam )
  • साक्षात्कार ( Interview )

राजस्थान में लोक सेवा आयोग के द्वारा आरएएस  परीक्षा का आयोजन किया जाता है, प्रारम्भिक परीक्षा  में उत्तीर्ण होने वाले अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा में सम्मिलित किये जाते है,मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण होने के बाद साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है तथा इन तीनो परीक्षाओ में सफल होने के बाद अभ्यर्थी का चयन आरएएस अधिकारी के पद पर होता है|

आरएएस अधिकारी के कार्य

आर. ए. एस एक प्रशासनिक अधिकारी होता है, यह अपने विभाग का स्वयं अधिकारी होता है तथा इनके अंतर्गत अन्य विभागों का भी कार्य भार भी आता है, आर. ए. एस अधिकारी का कार्य राजस्थान प्रशासन के अन्य अधिकारियो को देख-रेख में रखना तथा सभी योजनाओ का प्रगति विवरण उच्च अधिकारियो को देना होता है तथा प्रगति विवरण के आधार पर सरकार अन्य योजनाओ पर विचार-विमर्श कर क्रियान्वित करती है|

इस पृष्ठ पर आपको आर. ए. एस. (RAS) ऑफिसर कैसे बने इस सम्बन्ध में सम्पूर्ण जानकारी से अवगत कराया गया है उम्मीद करता हूँ आपको ये जानकारी पसंद आयी होगी|