UP CM Bal Seva Yojana 2021, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन – फ्री लैपटॉप, निशुल्क शिक्षा

UP CM Bal Seva Yojana 2021

हमारे देश में बहुत ही लम्बे समय से कोरोना बीमारी ने तहलका मचाकर रखा हुआ है, क्योंकि यह एक ऐसी बीमारी जिसका सामना करते – करते देश के अनगिनत नागरिको ने अपनी जान गंवा दी है और अभी भी इस बीमारी ने थमने का नाम नहीं  है। यह एक ऐसी बीमारी बन चुकी है, जो लोगो को कभी भी अपनी चपेट में ले सकती है। इस महामारी के चलते देश के बहुत से बच्चे अनाथ हो गये, तो वही बहुत से ऐसे बच्चे है, जिन्होने माता या पिता किसी एक खो दिया है |  इसी तरह की सभी समस्याओ को देखते हुए उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक नई Bal Seva Yojana योजना की शुरुआत की है |  

यह एक ऐसी योजना है, जिसके तहत अनाथ या फिर जिस बच्चे के माता या पिता न हो, उन बच्चो को इस योजना का लाभ प्रदान करने का फैसला लिया गया है, जिसमे  राज्य सरकार COVID-19 अनाथ बच्चों को मासिक सहायता, एकमुश्त वित्तीय सहायता, निशुल्क शिक्षा, शादी के लिए सहायता, टैबलेट / लैपटॉप प्रदान करेगी | यदि आप भी UP CM Bal Seva Yojana 2021, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन – फ्री लैपटॉप, निशुल्क शिक्षा के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इसके बारे में बताया गया है |

मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना

UP CM Bal Seva Yojana क्या है ?  

बाल जीवन योजना यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा शुरु की गई एक नई योजना है । इस योजना की आरंभ कोरोना माहमारी को देखते हुए की गई है, क्योंकि इस योजना के तहत COVID-19 से अनाथ हुए बच्चे को पूरी तरह से सुविधाये प्रदान की जायेंगी और अब इस योजना के चलते उत्तर प्रदेश में COVID-19 के कारण अनाथ हुआ हर एक बच्चा इस योजना का लाभ ले सकता है | इसके साथ ही यदि किसी बच्चे के माता या पिता की मौत COVID-19 से हो जाती है, तो वे बच्चे भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है । इस योजना के अंतर्गत बच्चो को मासिक सहायता, एकमुश्त वित्तीय सहायता, निशुल्क शिक्षा, शादी के लिए सहायता, टैबलेट / लैपटॉप  आदि की सुविधा प्रदान की जायेगी । इसके अलावा हरियाणा के मुख्यमंत्री ने भी बाल सेवा योजना की शुरुआत की है । हरियाणा के मुख्यमंत्री ने भी यूपी के मुख्यमंत्री के साथ इस योजना का लाभ देने का फैसला किया है। 

उत्तर प्रदेश एक जनपद एक उत्पाद योजना

UP CM Bal Seva Yojana 2021

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस योजना का प्रारम्भ उन बच्चों के लिये किया है, जिन्होंने कोविड -19 के कारण एक या अपने दोनों माता-पिता को खो दिया है। इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार एक बच्चे के अभिभावक को वित्तीय सहायता  देने का फैसला लिया है और वही जिन बच्चो की देखभाल करने वाला कोई नहीं है, तो ऐसे बच्चो को बाल गृह में रखे जाने की सुविधा प्रदान की जायेगी । इसके  अलावा  कोविड-19 से अनाथ बच्चों के पालन-पोषण और शिक्षा का भी पूरा ध्यान रखा जायेगा | इस योजना में शामिल होने के लिये आपको सबसे पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी करनी होगी ।

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 

  • इस योजना में शामिल होने के लिये सबसे पहले आपको इसकी वेबसाइट पर जाना होगा ।
  • इसके बाद आपके सामने एक होमपेज खुलकर आयेगा, जिसमे आपको मांगी गई पूरी जानकारी  आवेदन करना होगा ।
  • इसके बाद आपकी रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया सम्पन्न हो जायेगी ।

UP Kanya Sumangala Yojana क्या है

UP CM Bal Seva Yojana के लाभ 

  1. इस योजना के तहत राज्य सरकार 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक 4,000 रुपये प्रति माह की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी ।
  2. इस योजन के अंतर्गत एक बच्चे के अभिभावक या उस बच्चे की देखभाल करने वाले को उसके वयस्क होने तक 4000 रुपये की राशि प्रदान की जायेगी । 
  3. राज्य सरकार द्वारा शुरु की गई इस योजना के तहत 10 वर्ष से कम उम्र के जिन बच्चों के परिवार का कोई सदस्य नहीं है, उनकी देखभाल बाल गृह में की जाएगी। 
  4. वर्तमान समय में ऐसे बाल ग्रह मथुरा, लखनऊ, प्रयागराज, आगरा और रामपुर में  स्थित हैं।
  5. इसके साथ ही योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली यूपी सरकार COVID-19 अनाथ लड़कियों की शादी के समय 1,01,000 रुपये प्रदान करेगी ।
  6. बाल सेवा योजना के तहत स्कूलों, कॉलेजों में पढ़ने वाले या व्यावसायिक शिक्षा प्राप्त करने वाले ऐसे सभी बच्चों को टैबलेट या लैपटॉप भी प्रदान किये जायेंगे ।  
  7. उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत लगभग 1,000 बच्चों  को शामिल किये जाने की सम्भावना है 

उत्तर प्रदेश श्रम विभाग पंजीकरण

हरियाणा बाल सेवा योजना से प्राप्त होने वाले लाभ  

  1. हरियाणा बाल सेवा योजना के तहत राज्य सरकार 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक  2,500 रुपये प्रति माह की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी । 
  2. इसके साथ ही ऐसे बच्चो को शिक्षा और अन्य खर्चों के लिए 12,000 रुपये (प्रति वर्ष) का लाभ दिया जायेगा ।
  3. इस योजना के तहत बाल सेवा संस्थान में रहने वाले बच्चों के लिए आवर्ती जमा खाते खोले जाएंगे । इसके बाद  वे बच्चे 21 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर आरडी खाते से राशि का नकदीकरण कर सकेंगे । 
  4. इस योजना में, सरकार अनाथ लड़कियों के खातों में 51,000  भेजे जायेंगे और भविष्य में लड़कियों को यह राशि उनकी शादी के समय ब्याज के साथ प्र्दान की जायेगी । 
  5. इसके साथ ही , अनाथ बच्चों को 8वीं से 12वीं कक्षा में पढ़ते समय लैपटॉप/टैबलेट प्रदान किये जायेंगे ।

स्वनिधि योजना (SVANidhi Yojana) क्या है

यहाँ पर हमनें आपको मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि आप इस जानकारी से सम्बन्धित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो आप कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना क्या है