मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना | UP Abhyudaya Free IAS PCS Coaching Scheme in Hindi

मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना से सम्बंधित जानकारी

हमारे देश में ऐसे बहुत से छात्र और छात्राएं है, जो प्रशासनिक सेवाओं अर्थात आईएएस, पीसीएस बनना चाहते है| हालाँकि प्रशासनिक सेवाओं में जानें के लिए छात्रों को कोचिंग की आवश्यकता होती है, परन्तु अधिकांश छात्रों को आर्थिक स्थिति अच्छी न होनें के कारण वह कोचिंग खर्च को वहन करनें में असमर्थ होते है|

इस प्रकार की स्थितियों को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार नें राज्य के छात्रों के लिए ‘अभ्युदय योजना’ के अंतर्गत निशुल्क कोचिंग की सुविधा प्रदान की है| इस कोचिंग सेंटर में प्रदेश के छात्रों को प्रशासनिक व रक्षा सेवाओं, मेडिकल व इंजीनियरिंग से जुड़ी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी मुफ्त में करायी जाएगी|

उत्तर प्रदेश एक जनपद एक उत्पाद योजना

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना क्या है (What is Mukhyamantri Abhyudaya Yojana)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी नें उत्तर प्रदेश के 71 वें स्थापना दिवस पर प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे- आईएएस, पीसीएस, आईपीएस, नीट, जेईई आदि की तैयारी करनें वाले छात्रों के लिए अभ्युदय योजना के अंतर्गत मुफ्त कोचिंग सुविधा कार्यक्रम शुरू करने की घोषणा की है | पहले चरण के अंतर्गत प्रदेश के सभी 18 मंडल मुख्यालयों पर निशुल्क कोचिंग की शुरुआत बसंत पंचमी अर्थात 16 फ़रवरी से की जाएगी|

प्रतियोगी परीक्षाओं को तैयारी करनें वाले छात्रों की निशुल्क कोचिंग कक्षाओं को फिजिकली और वर्चुअल मोड में आयोजित किया जायेगा, जिसमें विभिन्न विषयों के विशेषज्ञों द्वारा लेक्चर दिए जायेंगे। प्रदेश के छात्रो को निशुल्क कोचिंग प्रदान करने के लिए विभिन्न कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के शैक्षिक बुनियादी ढ़ांचे (Infrastructure) का उपयोग किया जाएगा| सबसे खास बात यह है, कि इस योजना की तैयारी मुख्यमंत्री योगी जी की देख-रेख में किया जा रहा है|

एमएसएमई (MSME) क्या है

प्रशिक्षु आईएएस व आईपीएस द्वारा मार्गदर्शन (Trainee Guidance By IAS & IPS)

अभ्युदय योजना के अंतर्गत निशुल्क कोचिंग में आईएएस और पीसीएस की तैयारी करनें वाले छात्रों का मार्गदर्शन प्रशिक्षु आईएएस, पीसीएस आईपीएस, आईएफएस व अधिकारियों द्वारा तथा एनडीए और सीडीएस परीक्षा के लिए उत्तर प्रदेश सैनिक स्कूल के प्राचार्य द्वारा मार्गदर्शन किया जाएगा। इसके साथ ही इस कोचिंग में विभिन्न विषयों के प्रतिष्ठित विशेषज्ञों को अतिथि व्याख्याता के रूप में आमंत्रित किया जायेगा|

मेडिकल (नीट) और इंजीनियरिंग (जेईई) परीक्षा की तैयारी के लिए इस कोचिंग में अलग से कक्षाएं शुरू की जाएंगी। इस कोचिंग के माध्यम से प्रारंभिक परीक्षा में सफलता प्राप्त करनें वाले छात्रों के लिए मुख्य परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबंधन अकादमी (उपाम) में कोचिंग की व्यवस्था की जाएगी। जिसमें ऑनलाइन ट्रेनिंग के साथ-साथ विभिन्न परीक्षाओं के पाठ्यक्रम व परीक्षा प्रणाली आदि से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी विधिवत रूप से दी जाएगी|

UP Kanya Sumangala Yojana क्या है

ई-लर्निंग कंटेंट प्लेटफार्म (E-Learning Content Platform)

एक अनुमानित आकड़े के अनुसार उत्तर प्रदेश में प्रतिवर्ष लगभग चार से पांच लाख छात्र यूपीएससी (UPSC), जेईई (JEE), नीट (NEET) और पीएससी (PSC) आदि परीक्षाओं में शामिल होते हैं और इनमें से अधिकांश छात्र ऐसे परिवारों से होते है, जिनकी आर्थिक स्थिति कमजोर होती है| ऐसे छात्रों के लिए यह निशुल्क कोचिंग योजना बहुत लाभकारी सिद्ध होगी।

छात्रों को स्टडी मटेरियल उपलब्ध करानें के लिए ई लर्निंग कॉन्टेंट प्लेटफार्म मंडलायुक्त लखनऊ के निर्देशन में विकसित किया जायेगा| इस प्लेटफॉर्म पर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए विभिन्न अधिकारियों द्वारा अपनें अनुभवों को वीडियो के माध्यम से साझा किया जायेगा| इसके साथ ही इस ई लर्निंग प्लेटफार्म पर लाइव सेशन तथा सेमिनार का आयोजन किया जायेगा, जिसमें छात्र अपनें प्रश्नों को डायरेक्ट पूछ सकेंगे|

उत्तर प्रदेश श्रम विभाग पंजीकरण

निशुल्क कोचिंग योजना से लाभ (Benefit From Free Coaching Scheme)

  • आईएएस पीसीएस, नीट, आईआईटी आदि परीक्षा की तैयारी के लिए छात्रों को किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं देना होगा|
  • निशुल्क कोचिंग योजना के अंतर्गत छात्रों को ऑनलाइन स्टडी मटेरियल के साथ-साथ ऑफलाइन कक्षाएं भी प्रदान की जाएंगी।
  • मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गयी इस योजना के अंतर्गत छात्रों का मार्गदर्शन विभिन्न विभागों के अधिकारियों द्वारा किया जायेगा|
  • इस योजना के अंतर्गत छात्रों को उच्च स्तरीय कोचिंग संस्थानों के स्टडी मेटेरियल भी उपलब्ध कराये जाएंगे।
  • ई प्लेटफार्म के माध्यम से छात्र कोचिंग प्राप्त करनें के साथ ही अपने प्रश्न भी पूछ सकते हैं।
  • निशुल्क कोचिंग योजना के अंतर्गत छात्रों को परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम की पूरी जानकारी प्रदान की जाएगी।
  • प्रारंभिक परीक्षा में सफलता प्राप्त करनें वाले छात्रों को मुख्य परीक्षा तैयारी की जिम्मेदारी उपाम को सौंपी गई है |

स्वनिधि योजना (SVANidhi Yojana) क्या है

निशुल्क कोचिंग क्लासेस से सम्बंधित जानकारी (Free Coaching Classes Information)

मुख्यमंत्री जी नें पायलट प्रोजेक्ट के रूप में गोरखपुर का चयन किया है, जो उनका गृह जनपद भी है| गोरखपुर में निशुल्क कोचिंग की शुरुआत फरवरी के पहले सप्ताह से शुरू कर दी जाएगी, जबकि फरवरी तीसरे सप्ताह से इस योजना को पूरे प्रदेश में लागू कर दिया जायेगा| मीडिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस पूरे पूरे अभियान को चार भागों में विभाजित किया गया है|

निशुल्क कोचिंग के लिए छात्रों को सबसे पहले रजिस्ट्रेशन करना होगा, इसके पश्चात उनकी काउंसिलिंग की जाएगी| काउंसिलिंग के लिए छात्रों को काल या मैसेज के माध्यम से जानकारी दी जाएगी| काउंसलिंग के बाद छात्रों का प्रवेश लिया जायेगा, इसके पश्चात छात्रों को भी दो भागों डिवाइड किया जायेगा, जिसमें सिविल सर्विसेज की तैयारी करनें वाले छात्रों के लिए अलग बैच और अन्य परीक्षाओं की तैयारियों के लिए एक अलग बैच बनाया जायेगा|

उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना क्या है

निशुल्क कोचिंग हेतु रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया (Free Coaching Registration Process)

अभ्युदय योजना के अंतर्गत निशुल्क कोचिंग हेतु रजिस्ट्रेशन के लिए आपको अभी कुछ समय इंतजार करना होगा, क्योंकि सरकार द्वारा इस योजना की सिर्फ घोषणा की गई है। इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करनें की प्रक्रिया जैसे ही शुरू की जाएगी, हम आपको अपनें आर्टिकल के माध्यम से तुरंत अवगत कराएँगे|

नवीन रोजगार छतरी योजना क्या है