बच्चों का आधार कार्ड कैसे बनता है ? बाल आधार कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व प्रक्रिया

बच्चों का आधार कार्ड बनने से सम्बंधित जानकारी

जैसा कि हम सभी जानते है, कि भारत में रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति के पास आधार कार्ड होना आवश्यक है| दरअसल आधार को महत्वपूर्ण दस्तावेजों में से एक माना जाता है| आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि हाल ही में सरकार द्वारा पांच वर्ष (Five Years) से कम आयु के बच्चों के लिए भी आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है|  यहाँ तक कि आधार कार्ड को जारी करने वाली संस्था यूआईडीएआई द्वारा 12 फरवरी 2020 से बच्चों के लिए बाल आधार कार्ड की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू कर दी है|

बच्चों का यह आधार कार्ड मुख्य रूप से नीले रंग का होगा और इस कार्ड को बनवानें के लिए यूआईडीएआई की अधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते है| बच्चों का आधार कार्ड कैसे बनता है ?  बाल आधार कार्ड बनवाने. हेतु ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व प्रक्रिया के बारें में आपको यहाँ पूरी जानकारी विस्तार से प्रदान की जा रही है|

आधार कार्ड में ऑनलाइन सुधार कैसे करें 

बाल आधार कार्ड क्या है (Baal Aadhar Card)

भारत सरकार द्वारा देश के सभी 5 वर्ष के बच्चों के लिए बाल आधार कार्ड बनवाना अनिवार्य कर दिया है| भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) द्वारा जारी किये जाने वाले बाल आधार कार्ड का रंग नीला होगा और यह सिर्फ 5 वर्षों के लिए मान्य होगा | पांच वर्षो के पश्चात बाल आधार इनवैलिड हो जायेगा और इस कार्ड को पुनः रिएक्टिव कराने के लिए बच्चों को अनिवार्य रूप से आधार केंद्र ले जाना आवश्यक होगा।

पांच वर्षों के बाद बनने वाले आधार कार्ड में बच्चों का बायोमेट्रिक अपडेशन (Biometric Updation) करवाना होगा। इससे पहले बनने वाले बाल आधार कार्ड उनके माता और पिता के आधार से लिंक होंगे और इसके लिए माता-पिता दोनों के डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता होगी|

आधार कार्ड क्या होता है

बाल आधार कार्ड का उद्देश्य (Baal Aadhar Card Purpose)

आधार कार्ड भारत में निवास करने वले सभी भारतीयों की एक विशिष्ट पहचान आईडी (Unique Identification ID) है, जिसके माध्यम से सभी प्रकार की स्कीमों का लाभ बड़ी सरलता से प्राप्त कर सकते है|  यहाँ तक कि बैंक से सम्बंधित कोई भी कार्य अब आधार कार्ड के बगैर संभव नही है| जिसके कारण सरकार द्वारा बच्चों के लिए आधार बनवाना अनिवार्य कर दिया गया है|

बच्चों का विद्यालयों में एडमीशन के अलावा उनके लिए जारी की जाने वाली विभिन्न प्रकार की सरकारी योजनाओं का लाभ बाल आधार कार्ड (Baal Aadhaar Card) के माध्यम से प्राप्त कर सकते है| दरअसल बाल आधार बच्चों के लिए उनकी पहचान के रूप में कार्य करने वाला एक इंपोर्टेंट डाक्यूमेंट्स है|

आधार कार्ड कब-कहां और कैसे इस्तेमाल हुआ

बाल आधार से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी (Baal Aadhar Card Related Information)

  • बच्चों का बाल आधार बनवानें के पश्चात इसे 5 वर्ष और 15 वर्ष के बाद अनिवार्य रूप से अपडेट कराना आवश्यक है |
  • बाल आधार में उनके पिता और माता के डाक्यूमेंट्स के आधार पर बनाये जाते है, इसका मुख्य कारण यह है क्योंकि छोटे बच्चों के बायोमेट्रिक (Biometric) पूर्ण रूप से विकसित नही होते है| इस वजह से बाल आधार बनवानें में पिता और माता दोनों के डाक्यूमेंट्स की जरुरत होती है|
  • बच्चों के एडमीशन और विभिन्न प्रकार की सरकारी योजनाओं (Gvernment Schemes) का लाभ प्राप्त करने के लिए बाल आधार आवश्यक है|
  • यदि आप बाल आधार से सम्बंधित किसी प्रकार की जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो टोल फ्री नंबर 1947 पर भी कॉल विधिवत रूप से जानकारी प्राप्त कर सकते है|

ई पासपोर्ट क्या है

बाल आधार के फायदे (Baal Aadhar Card Benefits)

  • 5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए बाल आधार कार्ड का इस्तेमाल रेलवे या फ्लाइट में यात्रा करते समय या होटलों में ठहरने के दौरान पहचान प्रमाण के रूप में किया जा सकता है।
  • भारत के सभी स्कूलों द्वारा बाल आधार को बच्चों के प्रवेश के समय जमा करना अनिवार्य कर दिया है। इस कार्ड के माध्यम से आप अपने बच्चे का एडमीशन बड़ी आसानी से करवा सकते है|
  • बच्चों के लिए आधार भारत सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली मध्याह्न भोजन (Midday Meal) सुविधा के अंतर्गत बच्चों के लिए दी जाने वाली भारी सब्सिडी राशि को बचाने में मदद मिलेगी, क्योंकि इससे नकली छात्रों पर रोक लगेगी।
  • बैंकिंग सेक्टर से जुड़े विभिन्न प्रकार के कार्यों के लिए (छात्रवृत्ति हेतु खाता) बाल आधार का उपयोग आईडेंटी के रूप में किया जा सकता है|

PM Kisan e KYC Kaise Kare

बाल आधार बनवानें हेतु आवश्यक दस्तावेज (Baal Aadhar Card Documents)

  • बाल आधार के लिए बच्चे का नामांकन करने के लिए किसी भी माता-पिता को अपने नवजात बच्चे (5 वर्ष से कम आयु) का जन्म प्रमाण पत्र प्रदान करना होगा।
  • माता-पिता में से किसी को भी अपने बच्चे के बाल आधार कार्ड के लिए पंजीकरण करते समय अपना आधार कार्ड प्रदान करना होगा क्योंकि यह माता-पिता के आधार कार्ड से जुड़ा होगा।
  • एक बच्चे के मामले में जो स्कूल में पढ़ रहे है, उनके माता-पिता को स्कूल का पहचान पत्र या स्कूल संस्थान द्वारा जारी किया गया वास्तविक विवरण देना होगा। आधार के लिए नामांकन करने के लिए स्कूल आईडी कार्ड को दस्तावेजी प्रमाण के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

PM किसान सम्मान निधि योजना

बाल आधार कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करे (Baal Aadhar Card Online Registration in Hindi)

  • बच्चों का बाल आधार बनवाने के लिए सबसे पहले उनके माता-पिता को यूआईडीएआई (UIDAI) की  ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज ओपन होगा, यहाँ आपको Get Aadhar के आप्शन में Book an Appointment के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा ।
  • अब आपके सामने एक न्यू पेज ओपन होगा, यहाँ आपको अपने शहर के आप्शन में आधार कार्ड बनाने के लिए लोकेशन सेलेक्ट करनी होगी |
  • अब आपको Proceed to book appointment पर क्लिक करना होगा |
  • अब आपके सामने एक फॉर्म ओपन होगा, यहाँ आपको सबसे पहले New Aadhar पर क्लिक कर Mobile Number, Captcha Code दर्ज कर Generate OTP के आप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • अब आपके पंजीकृत मोबाइल पर एक OTP आयेगा, जिसे दर्ज कर अपॉइंटमेंट की डेट को बुक करना होगा।
  • आपको अपॉइंटमेंट की डेट पर आधार केंद्र जाना होगा, यहाँ आपके बच्चे का ‘बाल आधार कार्ड’ बन जायेगा।

निक्षय पोषण योजना