एनआरए (NRA) क्या है | NRA भर्ती कैसे करेगी | CET की पूरी जानकारी

एनआरए (NRA) भर्ती से सम्बन्धित जानकारी

भारत में अधिकांश छात्र पढ़ाई के बाद सरकारी नौकरी प्राप्त करना चाहते है|  छात्र पढ़ाई के दौरान ही नौकरी के लिए आयोजित होनें वाली प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी करते रहते है|  बैंकिंग, रेलवे, एसएससी द्वारा प्रतिवर्ष भर्तियाँ निर्गत की जाती है| अभ्यर्थियों के चयन हेतु परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है| यहाँ सबसे ध्यान देने वाली बात यह है कि बैंकिंग, रेलवे, एसएससी द्वारा परीक्षाओं का आयोजन अलग-अलग किया जाता है, जिससे कई छात्र परीक्षाओं से ऊब कर कुछ परीक्षाओं को छोड़ देते हैं।  भारत सरकार ने इस प्रकार की अनगिनत परीक्षाओं से छात्रों को छुटकारा दिलानें के लिए  राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी अर्थात National Recruitment Agency (NRA) के गठन को स्वीकृति दी है| आईये जानते है  राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) क्या है?

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी क्या है  (What Is National Recruitment Agency)

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी अर्थात नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी एक ऐसी संस्था है, जो भारत में केंद्र सरकार के विभागों के तहत आने वाली सरकारी नौकरियों के लिए पूरे देश में कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) का आयोजन करेगी। राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी का प्रस्ताव पहली बार वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय बजट 2020 में पेश किया था। केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 19 अगस्त 2020 को राष्ट्रीय भर्ती संस्था के गठन को मंजूरी दी है।

वर्तमान समय में बैंकिंग, रेलवे, एसएससी आदि में अभ्यर्थियों के चयन हेतु अलग – अलग संस्थाओं द्वारा अलग – अलग समय पर भर्तियों के आधार पर प्रतियोगिता परीक्षाएं आयोजित करती हैं। परन्तु अब  इस व्यवस्था को समाप्त करते हुए इन भर्तियों के लिए पहले नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी द्वारा एक कॉमन एग्ज़ाम लिया जाएगा। इस परीक्षा में हासिल किए गए नंबर के आधार पर ही भविष्य में NRA के तहत आने वाले विभागों में निकलने वाली नौकरियों के लिए आयोजित किए जाने वाले मुख्य परीक्षा में प्रतियोगियों को बैठने का अवसर प्राप्त होगा।

कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट क्या है (What Is Common Eligibility Test)

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इस वर्ष का आम बजट 1 फरवरी 2020 को संसद में पेश किया | उन्होंने अपनें भाषण के दौरान कहा कि कि नॉन गजेटेड सरकारी पदों में भर्ती के लिए और सरकारी बैंक में भर्ती के लिए अब एक ही ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन किया जायेगा, जिसे कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) कहा जायेगा| 

सरकारी नौकरी हेतु अलग-अलग विभागों में एक स्तर की सभी भर्तियों के लिए एक ही परीक्षा का आयोजन किया जायेगा, और यह परीक्षा ऑनलाइन मोड पर आयोजित की जाएगी|  इस प्रकार अभी जो RRB, IBPS और SSC आदि में भर्ती के लिए अलग-अलग परीक्षा होती है, उसकी जगह एक ही परीक्षा का आयोजन होगा और इस परीक्षा का आयोजन नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी (National Recruitment Agency ) द्वारा किया जायेगा|

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी कार्य कैसे करेगी

वर्तमान समय में केंद्र के अंतर्गत आने वाली नौकरियों के लिए  छात्रों के चयन हेतु अलग – अलग संस्थाओं द्वारा अपने अनुसार प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है| राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी की स्थापना के बाद यह प्रक्रिया बदल जाएगी| नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी द्वारा अब केंद्र सरकार के अधीन आने वाली कुछ नौकरियों जैसे कि एसएससी (SSC), आईबीपीएस (IBPS) रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) इत्यादि के लिए पहले एक कॉमन एंट्रेंस एग्ज़ाम लेगी।

नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी (NRA) द्वारा कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) का आयोजन एक वर्ष में दो बार किया जायेगा और सीईटी में प्राप्त परिणामों के आधार पर सफल अभ्यर्थियों को संबंधित विभाग के लिए आयोजित होने वाले मुख्य परीक्षा में बैठने का अवसर मिलेगा।  

उदाहरण के रूप में आप इसे इस तरह समझ सकते है, जैसे कि वर्तमान समय में यदि रेलवे में कोई भर्ती निकलती है, तो जो भी छात्र चाहे उस परीक्षा का फॉर्म भरकर परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। परन्तु राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी की स्थापना के बाद छात्रों को रेलवे की परीक्षा में बैठने के लिए पहले राष्ट्रीय भर्ती संस्था (NRA) द्वारा आयोजित किए जाने वाले कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) में बैठना होगा। इस परीक्षा में सफलता प्राप्त करने वाले छात्रों को ही भविष्य में संबंधित विभाग की मुख्य परीक्षाओं में बैठने का मौका दिया जाएगा। इस तरह NRA द्वारा आयोजित किए जाने वाले परीक्षा को आप आरंभिक परीक्षा यानी प्रीलिम्स कह सकते हैं।

महत्वपूर्ण जानकारी- राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी द्वारा साल में दो बार कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट का आयोजन किया जायेगा, ऐसे छात्र जो NRA CET में पास होंगे, उन्हें अगले 3 वर्ष  तक NRA द्वारा आयोजित किए जाने वाले एंट्रेंस टेस्ट में शामिल होने की आवश्यकता नहीं होगी तथा इस दौरान वह रेलवे, बैंकिंग और एसएससी में निकलने वाली नौकरियों के लिए सीधे मुख्य परीक्षा में शामिल हो सकेंगे।

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी से लाभ (Benefits of National Recruitment Agency)

नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के आ जाने के बाद छात्रों को सबसे बड़ा लाभ यह कि इन सभी परीक्षाओं के अलग-अलग फॉर्म भरने की आवश्यकता नहीं होगी| छात्रों को सिर्फ एक बार फॉर्म भरना होगा। इससे समय और पैसे, दोनों की ही काफी बचत होगी। इससे विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों से तथा गरीब परिवेश से आने वाले छात्रों को काफी फायदा होगा।

वर्तमान समय में केंद्र सरकार के अंतर्गत आने वाले विभागों से जो नौकरियां निकलती हैं, उसके लिए आयोजित होने वाली प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए परीक्षा का आयोजन सिर्फ 2 भाषाओं हिंदी या अंग्रेजी में ही किया जाता है। लेकिन राष्ट्रीय भर्ती संस्था द्वारा आयोजित किए जाने वाले कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (Common Eligibility Test) कुल 12 भाषाओं में आयोजित किया जाएगा।

वर्तमान में विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए छात्रों को दूसरे शहरों में जाकर परीक्षाएं देनी पड़ती है, लेकिन  NRA पूरे देश में 1000 से अधिक परीक्षा केंद्रों की स्थापना करेगी। ऐसे में छात्रों को ज्यादा दूर जाकर परीक्षा देने की आवश्यकता नहीं होगी। इसके अलावा परीक्षार्थियों को अपनी सुविधा अनुसार परीक्षा केंद्र चुनने का अवसर दिया जाएगा।