PWD Full Form in Hindi | PWD क्या है और इसके कार्य क्या क्या होते है

PWD Full Form आज के इस लेख के तहत हम आपको PWD से जुड़ी जानकारी देने वाले है। बहुत बार ऐसा होता है की कुछ फुल फॉर्म्स को हम सुनते तो रहते है। पर जब भी कभी हमसे कोई भी फुल फॉर्म्स के बारे में पूछता है तो हैब जवाब ही नहीं दे पाते है। पर  दोस्तों ज़रूरी है हम अपने जीवन में रोज़ाना कुछ न कुछ ज़रूर सीखे। इससे हमारा मस्तिष्क तेज़ भी होता है। और किसी के पूछने पर चार्मिन्दा भी नहीं होना पड़ता है। तो चलिए जानते है PWD किसे कहते है, इसमें नौकरी कैसे प्राप्त करे एवं इसके कार्य क्या होते है। हमारा अनुरोध है की आप लेख को अंत तक अवश्य पढ़े।

PWD Full Form

PWD Full Form In Hindi

PWD का पूरा फुल फॉर्म PUBLIC WORKS DEPARTMENT  एवं हिंदी में लोक निर्माण विभाग कहते है। यह एक सरकारी डिपार्टमेंट होता है। जिसका प्रमुख कार्य मुख्य कार्य सड़क निर्माण, बिल्डिंग निर्माण, ब्रिज आदि करते है। जो व्यक्ति PWD में होता है वह राज्य स्तर पर कार्य करता हैं। शहर को शुद्ध पानी उपलब्ध अगर शहर मे कहीं पानी के पाइप आदि फट जाये तो उसकी मरम्मत आदि कराना व सडक व विधालय, अस्पताल, बिल्डिंग आदि की मरम्मत कराना व  नवनिर्माण आदि करता है।

Ladkiyon Ke Liye Sarkari Yojana

यूपी पंख पोर्टल

PWD क्या है

यह पीडब्ल्यूडी एक सरकारी ऑर्गेनाइजेशन होती है। जो कि राज्य सरकार के अंतर्गत कार्य करती है। हर शहर में PWD के अलग-अलग कार्यालय होते हैं। जिसके अंतर्गत कार्य करने वाले व्यक्ति को शहर में पानी बिल्डिंग निर्माण की मरम्मत आदि का कार्य संभालते हैं। इसके साथ ही राज्य की जनता से संबंधित कोई भी इंस्ट्रक्शन का कार्य होता है। तो वह उनके द्वारा ही किया जाता है। इसमें पाइपलाइन के कार्य से सरकारी अस्पताल का निर्माण करने के साथ-साथ विद्यालय आदि के निर्माण तक के छोटे सभी कार्य किए जाते हैं।

PWD के‌ कार्य

नीचे हमने आपको पीडब्ल्यूडी के तहत किए जाने वाले कार्यों की जानकारी दी है। जो कि इस प्रकार है:-

  • पुलों का निर्माण।
  • पेयजल व्यवस्था करना।
  • सरकारी बिल्डिंग बनाना व मरम्मत करना।
  • रोड निर्माण करना और मरम्मत करवाना।

पेयजल व्यवस्था करना

जैसा कि हम सभी को मालूम है, कि कभी भी शहर हो या गांव पानी की समस्या होती ही रहती है। बहुत बार ऐसा होता है, कि वहां के लोगों के लिए पीने तक का पानी नहीं होता है। तो ऐसे में ही लोगों के लिए पानी की व्यवस्था भी पीडब्ल्यूडी के माध्यम से ही की जाती है।

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) क्या है 

मुख्यमंत्री का चुनाव 
सरकारी बिल्डिंग

जब कभी शहर में सरकारी बिल्डिंग का निर्माण किया जाता है या किसी सरकारी बिल्डिंग की मरम्मत होती है। तब भी पीडब्ल्यूडी का कार्य होता है। यह विद्यालय व अस्पताल आदि की आरंभ का कार्य भी करते हैं। यदि कहीं कोई अस्पताल या विधायक आदि का निर्माण होता है। तो वह भी पीडब्ल्यूडी के माध्यम से ही किया जाता है।

रोड निर्माण

गांव एवं शहरों में बहुत से सरके जो टूट जाती है उनकी उनसे काफी परेशानी होती है लोगों को आने जाने में तो इन सड़कों के मरम्मत  पीडब्ल्यूडी द्वारा ही की जाती है इसके साथ ही शहर में नई सड़कों का निर्माण भी PWD ही करता है।

पुलों का निर्माण

जब कभी किसी क्षेत्र के अंतर्गत आवश्यकता अनुसार पुलों का निर्माण होता है। तो वह कार्य भी पीडब्ल्यूडी के माध्यम से की जाती है। पुल दुर्घटना हो जाने पर उसकी मरम्मत भी पीडब्ल्यूडी के द्वारा ही होती है।

PWD अधिकारी बनने के लिए योग्यता

यदि आप पीडब्ल्यूडी अधिकारी बनना चाहते हैं। तो इसके लिए आपको 12वीं के पश्चात इंजीनियरिंग फील्ड का चुनाव करना होगा। इसके लिए आप कहीं अलग अलग प्रकार के कोर्स एवं डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। जैसे कि बीटेक, डिप्लोमा आदि कर सकते है। जब आप किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त कर लेते हैं। तो उसके पश्चात आप पीडब्ल्यूडी में जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं। और अपना कैरियर क्षेत्र में आसानी पूर्वक बना सकते हैं।

PWD अधिकारी बनने के लिए उम्र सीमा

यदि आप पीडब्ल्यूडी अधिकारी बनना चाहते हैं। तो इसके लिए आपकी उम्र न्यूनतम 21 वर्ष होनी एवं अधिकतम 35 वर्ष होनी आवश्यक है। इसके साथ ही आरक्षित वर्गों को उम्र में नियम अनुसार छूट देने का भी प्रावधान किया जाता है।

PWD में आवेदन कैसे करें

पीडब्ल्यूडी अधिकारी बनने के लिए सर्वप्रथम आपको आवेदन करना होगा। इसकी भर्ती कब निकाली जाती है। इसकी जानकारी आप इसकी अधिकारिक वेबसाइट के साथ सोशल मीडिया इंटरनेट समाचार पत्र रोजगार समाचार आदि के तहत प्राप्त कर सकते हैं। जब कभी इसकी व्यक्ति होती है। तो आप अपनी आवश्यक दस्तावेजों के साथ इसमें आवेदन कर सकते हैं।

PWD अधिकारी की चयन प्रक्रिया

किसी भी व्यक्ति को पीडब्ल्यूडी अधिकारी बनने के लिए चयन प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। इसके अंतर्गत चयन प्रक्रिया से गुजरने के बाद ही आप एक PWD अधिकारी के रूप में अपना कैरियर बना सकते है:-

प्रारंभिक परीक्षा- जब आप पीडब्ल्यूडी के क्षेत्र के लिए आवेदन करते हैं। तो सर्वप्रथम आपको प्रारंभिक परीक्षा देनी पड़ती है। यह आपकी 100 अंकों की परीक्षा होती है। इसके साथ ही इस परीक्षा में सभी आवेदन करता शामिल होते हैं। इस परीक्षा में सफल होने के पश्चात ही अगले चरण में आप बैठ सकते हैं इस कारण इस परीक्षा की तैयारी आपको अच्छे से करनी जरूरी है।

मुख्य परीक्षा- जब व्यक्ति प्रारंभिक परीक्षा को उतीर्ण कर देता है। तो उसके पश्चात उसे मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है। इसके अंतर्गत केवल वही कैंडिडेट हिस्सा ले पाते हैं। जिन्होंने प्रारंभिक परीक्षा को को उतीर्ण कर लिया  है। इस परीक्षा में सफल होने के पश्चात ही आपको काफी ज्यादा मेहनत करनी होगी। तभी आप इस परीक्षा में सफल हो सकते हैं।

इंटरव्यूजब आवेदक द्वारा लिखित परीक्षा को क्लियर कर लिया जाता है तो इसके पश्चात आपको अब इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा। इसमें आपको एक पैनल के सामने इंटरव्यू देना होता है। वह इसमें आपकी योग्यता और पर्सनैलिटी को ध्यान में रखते हुए आपको अंक प्रदान किए जाते हैं।

जब व्यक्ति द्वारा इन तीनों चरणों को पूरा कर लिया जाता है। तो उसके पश्चात एक मेरिट लिस्ट जारी की जाती है। उन सभी कैंडिडेट को प्राप्त अंकों के आधार पर उन्हें अलग-अलग रंग को दी जाती है। इसके पश्चात उन्हें ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है। जब उनकी ट्रेनिंग पूरी हो जाती है। तो इसके पश्चात उन्हें संबंधित पोस्ट पर नियुक्त कर दिया जाता है।

PWD के अंतर्गत आने वाले पद

पीडब्ल्यूडी के अंतर्गत विभिन्न पद आते हैं। जिसकी जानकारी कुछ इस प्रकार है:-

  • Director
  • Deputy Director
  • Engineer in chief
  • Chief Engineer
  • Superintendent Engineer
  • Executive Engineer
  • Assistant Engineer
  • Junior Engineer
  • Chief Architect
  • Assistance Architect
  • Assistance Geologist
  • Assistant Research Officer

PWD की तयारी कैसे करें

  • टाइम टेबल बनाकर पढ़े
  • नोट्स बनाकर पढ़े
  • पुराने प्रश्न पत्र देखे
  • हर सब्जेक्ट की अलग बुक्स रखे
  • ऑनलाइन पढाई करे
  • कोचिंग क्लास ज्वाइन करें
  • मोडल पेपर देखे
  • सेलेबस को ध्यान में रखे
  • हमेशा अपडेट रहे
  • सवाल को समझे