Full Form of UPA and NDA in Hindi | राजग और संप्रग क्या होता है | पूरी जानकारी

UPA and NDA in Hindi | राजग और संप्रग

गठबन्धन राजनीतिक दलों की अपनी एक आवश्यकता है | इस कारण वह अपनी जरुरत के मुताबिक इसे जोड़ते और तोड़ते रहते है | राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन भी इसी प्रकार का एक गठबंधन है | इसमें सबसे बड़ा दल भाजपा है | गठबन्धन की कोई औपचारिक संरचना नहीं है होती है बल्कि इसमें व्यक्तिगत रूप से कुछ दलों के नेताओं की महत्वाकांक्षा को पूर्ण किया जाने का प्रयास होता है | जब राष्ट्रहित से सम्बंधित मुद्दों के लिए संसद में निर्णय लिया जाता है | वहां पर इन दलों में मुद्दों को उठाते समय दलों के बीच विभिन्न विचारधाराओं को देखते हुए कभी सहमति तो कभी असहमति को देखने को मिलता है |

भारत में दो प्रमुख राजनैतिक दल है | इनके द्वारा ही केंद्र सरकार में सरकार का गठन किया जाता है | इसमें एक United Progressive Alliance (UPA) है | इसका नेतृत्व राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के द्वारा किया जाता है तथा दूसरा दल National Democratic Alliance (NDA) है | इसका नेतृत्व भारतीय जनता पार्टी के द्वारा किया जाता है| यह दोनों ही दल बहुत ही बड़े है इनके द्वारा लोकसभा का चुनाव स्वयं पूरे देश में लड़ा जाता है | राजग और संप्रग दलों में कई छोटे- छोटे दल सम्मिलित है, जो इन दलों का विस्तार पूरे भारत में करते है | इन दलों में जिसके पास अधिक सीट होती है वह केंद्र में सरकार का गठन करती है| तो आइये यहाँ पर UPA और NDA के बारे में जानकारी प्राप्त करते है |

NDA (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन राजग”)

वर्ष 1998 से पहले कांग्रेस ही सबसे बड़ा दल था | 1998 में राजनेताओं के द्वारा गैर काँग्रेसी सरकार के गठन का निर्णय लिया गया | इस निर्णय को लागू करने के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का निर्माण किया गया | इस गठबंधन का नेतृत्व भारतीय जनता पार्टी के द्वारा किया | जब इस गठबंधन का निर्माण किया गया उस समय इसमें 13 सदस्य थे | इसके एक वर्ष के पश्चात आल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम के द्वारा इस गठबंधन से अलग होने की घोषणा कर दी गयी | इससे आल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम ने सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया | इस कारण से तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई सरकार अल्प मत में आ गयी | अल्प मत के कारण ही अटल बिहारी वाजपेई को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था | 2004 के लोकसभा चुनाव जीतने की उम्मीद के साथ यह गठबन्धन पुन: मैदान में उतरा लेकिन कांग्रेस पार्टी के गठबन्धन को अन्य गुट निरपेक्ष पार्टियों से समर्थन मिलने से इसे विपक्ष में बैठना पडा था |

2004 में लोकसभा के जो चुनाव आयोजित हुए थे उसमे कांग्रेस और राजग की सीटों में अधिक अंतर नहीं था लेकिन NDA (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन “राजग”) के द्वारा बहुमत के लिए कुल सीटों के लिए अन्य दलों के द्वारा साथ नहीं दिया गया था | कम सीटों को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के द्वारा पूरा नहीं किया जा सका था इसी कारण से 2004 में कांग्रेस की सरकार बन गयी थी |

राजग सदस्य

  • भारतीय जनता पार्टी
  • शिरोमणि अकाली दल
  • जम्मू और कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी
  • राष्ट्रीय लोक समता पार्टी
  • अपना दल
  • नागा पीपुल्स फ्रंट
  • ऑल इंडिया एन॰आर॰ कांग्रेस
  • शिवसेना
  • तेलुगु देशम पार्टी साइकिल
  • लोक जनशक्ति पार्टी
  • नेशनल पीपुल्स पार्टी
  • ऑल झारखण्ड स्टूडेंट्स यूनियन
  • कामतापुर पीपुल्स पार्टी
  • केरल कांग्रेस (थॉमस)
  • केरल कांग्रेस (नेशनलिस्ट)
  • कोंगुनाडु मक्कल देसिया कच्ची
  • पाट्टाली मक्कल कॉची
  • स्वाभिमानी पक्ष
  • रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया (ए)
  • इण्डिया जननायगा काच्ची
  • गोरखा जनमुक्ति मोर्चा
  • गोवा विकास पार्टी
  • जन सेना पार्टी
  • जम्मू और कश्मीर पीपुल्स कांफ्रेंस
  • देसिया मुरपोक्कु द्रविड़ कड़गम
  • नार्थ-ईस्ट रीजनल पोलिटिकल फ्रंट
  • पुथिया नीधि काची
  • राष्ट्रीय समाज पक्ष
  • रेवोलुशनरी सोशलिस्ट पार्टी (बोल्शेविक)
  • शिव संग्राम
  • हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर)
  • बहुजन रिपब्लिकन एकता मंच
  • मणिपुर पीपुल्स पार्टी
  • महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी
  • यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट

United Progressive Alliance (संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन संप्रग”)

लोकसभा का चुनाव वर्ष 2004 में हुआ था इस चुनाव में किसी दल को स्पष्ट बहुमत प्राप्त नहीं हुआ था | सरकार के गठन के लिए बहुमत का होना आवश्यक था | उस समय कांग्रेस के नेतृवत में United Progressive Alliance (UPA) का गठन किया गया था | इस गठबंधन के द्वारा ही कांग्रेस के द्वारा दो बार सरकार बनायीं गयी थी |

UPA के सदस्य

  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  • इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग
  • झारखंड मुक्ति मोर्चा
  • जनता दल (सेक्युलर)
  • केरल कांग्रेस (एम)
  • राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी
  • राष्ट्रीय जनता दल
  • द्रविड़ मुनेत्र कझागम
  • राष्ट्रीय लोक दल
  • भारत की शांति पार्टी
  • महान दल
  • क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी
  • कम्युनिस्ट मार्क्सवादी पार्टी (जॉन)
  • केरल कांग्रेस (जैकब)

यूपीए के बड़े सहयोगी

कांग्रेस पार्टी के द्वारा पिछले कुछ समय में इस गठबंधन को काफी मजबूती प्रदान की गयी है | विधानसभा चुनावों में इस गठबंधन को कई राज्यों में जीत प्राप्त हुई है | बिहार में कांग्रेस के साथ लालू यादव की राष्ट्रीय जनता दल, उपेंद्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी और जीतन राम मांझी का हिंदुस्तान आवाम मोर्चा सम्मिलित है | शरद यादव की नई पार्टी लोकतांत्रिक जनता दल भी यूपीए में शामिल है | बंगाल में लेफ्ट पार्टी कांग्रेस के साथ मिलकर गठबंधन का एक भाग है | महाराष्ट्र में कांग्रेस का साथ एनसीपी ने दिया है इसके पार्टी अध्यक्ष शरद पवार है | दक्षिण भारत में तेलुगु देशम पार्टी ने भी एनडीए का साथ छोड़कर यूपीए का भाग बन गयी है, इसके अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू है | कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी की पार्टी जेडीएस है | यह पार्टी भी यूपीए का एक बड़ा भाग है जो इनकी संख्या बल में बहुत ही वृद्धि करता है | तमिलनाडु में डीएमके यूपीए के साथ है इसके अध्यक्ष एमके स्टालिन है | इसके साथ ही राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में बीएसपी और एसपी के द्वारा यूपीए को समर्थन दिया गया है | यूपी में बीएसपी और एसपी ने कांग्रेस से गठबंधन नहीं किया है |