आईपीएस कैसे बने | IPS Full Form in Hindi | योग्यता | IPS की सैलरी की कितनी होती है

यदि आप पुलिस विभाग में एक बड़ा पद प्राप्त करना चाहते है, तो आप आईपीएस की तैयारी कर सकते है | आईपीएस भारतीय पुलिस सेवा में एक बहुत ही बड़ा पद होता है | इस पद को प्राप्त करना बहुत से लोगो का सपना होता है, किन्तु इस पद को पाने के लिए अभ्यर्थी को दिन- रात कड़ी मेहनत करनी होती है | भारत में आईपीएस पद के लिए अभ्यर्थियों को चुनने का कार्य UPSC (Union Public Service Commission) द्वारा आयोजित सिविल परीक्षाओ के द्वारा किया जाता है |

यदि आप इस परीक्षा को पास कर लेते है, तो आप आईपीएस के पद पर नियुक्त हो सकते है | किन्तु बहुत से लोगो को आईपीएस के बारे में जानकारी नहीं होती है, तो इस लेख में आपको आईपीएस कैसे बने(IPS Full Form in Hindi) इसके लिए योग्यता क्या होती है, तथा IPS की सैलरी की कितनी होती है, इसके बारे में जानकारी दी जा रही है |

पीसीएस अधिकारी कैसे बने

आईपीएस का पूरा नाम (IPS Full Form)

IPS का अंग्रेजी भाषा में अर्थ ‘Indian Police Service’ होता है, तथा आईपीएस का हिंदी में अर्थ ‘भारतीय पुलिस सेवा’ है |यह पद देश के बड़े पदों में से एक होता है, तथा इस पद की सेवा का देश के लिए बड़ा योगदान रहता है | आइपीएस

IPS क्या होता है (What is IPS)

आईपीएस यानि इंडियन पुलिस सर्विस यह भारत देश के पुलिस विभाग में एक बहुत बड़ा पद होता है | जिसे प्राप्त करने के लिए यूपीएससी द्वारा निर्धारित परीक्षा को उत्तीर्ण करना होता है | अभ्यर्थी जो इस परीक्षा में प्रवेश पाना चाहते है, वह 10वी के बाद से ही इस परीक्षा के लिए तैयारी कर सकते है | यह देश की सबसे कठिन परीक्षाओ में से एक है, जिसे पास करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है | सर्वप्रथम वर्ष 1948 में IPS का गठन हुआ था |

भारत की तीन अखिल सेवाएं IAS (Indian Administrative Service), IRAS (Indian Railway Account Service) और IFS (Indian Forest Service) में से IPS (Indian Police Service) भी एक है | देश के गृह मंत्रालय द्वारा IPS की कैडर कंट्रोलिंग अथॉरिटी को नियंत्रण किया जाता है | केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा एक IPS अधिकारी को नियुक्त किया जा सकता है |

आईपीएस कैसे बने (IPS OfficerKaise Bane)

यहाँ पर आपको IPS अधिकारी कैसे बने के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी जा रही है, जो इस प्रकार है:-

12वी के बाद आईपीएस कैसे करे

यदि आप एक आईपीएस अधिकारी बनना चाहते है, तो सबसे पहले आपको 12 वी की परीक्षा को अच्छे अंको से उत्तीर्ण करना होता है | आप इंटर की परीक्षा किसी भी विषय विज्ञानं (Science), कॉमर्स (Commerce), और आर्ट (Art) से उत्तीर्ण कर सकते है | इसके बाद आपको स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होता है | क्योकि UPSC की परीक्षा में बैठने के लिए आपके पास न्यूनतम स्नातक की डिग्री होनी चाहिए | आपने स्नातक किसी भी विषय से किया हो, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है | UPSC परीक्षा का फॉर्म भरने के बाद आपको उसके पाठ्यक्रम की तैयारी करनी होती है |

आईपीएस बनने के लिए आवश्यक लम्बाई (IPS Height Required)

पुरुष अभ्यर्थियों के लिए:- इसमें सामान्य श्रेणी में आने वाले पुरुषो के लिए न्यूनतम 165cm की लम्बाई मान्य है, तथा एससी (SC)/ ओबीसी (OBC) श्रेणी में आने वाले अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम आयु 160cm होनी चाहिए | इसके अतिरिक्त सीने की चौड़ाई 84cm तक हो |

महिलाओ के लिए लम्बाई:- महिला आवेदक जो सामान्य श्रेणी में आती है, उनकी लम्बाई न्यूनतम 150CM होनी चाहिए, तथा SC/OBC श्रेणी में आने वाली महिला आवेदक की लम्बाई कम से कम 145CM हो | इसके अतिरिक्त चेस्ट 79CM मान्य है |

आईपीएस बनने के लिए मान्य आँखों की रौशनी (IPS Officer Valid Eyesight)

सभी आवेदकों के लिए स्वस्थ आँख का विज़न (Vision) 6/6 या 6/9 होना चाहिए, तथा अस्वस्थ आँख का विज़न 6/12 या 6/9 रखा गया है |

आईआरएस (IRS) अधिकारी कैसे बने

आईपीएस कीपरीक्षा (IPS Exam)

एक अभ्यर्थी को आईपीएस अधिकारी बनने के लिए परीक्षाओ के तीन चरणों से गुजरना होता है, जो इस प्रकार है |

  • प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Main Exam)
  • साक्षात्कार (Interview)

आइपीएस प्रारंभिक परीक्षा (IPS Preliminary Exam)

यह परीक्षा का पहला चरण होता है, जिसमे अभ्यर्थी को 2 पेपर देने होते है| इसमें एक प्रश्न पत्र के लिए 200 अंक निर्धारित होते है | यह प्रश्न पत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों ही भाषाओ में होता है | इसमें सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ होते है, जिसमे एक प्रश्न के 4 उत्तर दिए होते है, और उत्तर का गलत जवाब देने पर Negetive Marking की जाती है | इसमें GS और APPTITUDE दो तरह के पेपर से प्रश्न पूछे जाते है | इस परीक्षा का आयोजन जून से अगस्त माह के मध्य किया जाता है | यदि अभ्यर्थी इस परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाता है, तो वह मुख्य परीक्षा में बैठने के लिए योग्य हो जाता है |

आइपीएस मुख्य परीक्षा (IPS Main Exam)

इसमें अभ्यर्थी को 9 पेपर को उत्तीर्ण करना होता है, यह सभी पेपर डिस्क्रिप्टिव टाइप होते है | इसमें से 2 पेपर भाषा के तथा 7 पेपर मेरिट वाले होते है | इसमें डिस्क्रिप्टिव/निबंध और वैकल्पिक पेपर होते है | जो अभ्यर्थी इस परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाते है, उन्हें साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है |

आइपीएस साक्षात्कार (IPS Interview)

दोनों परीक्षाओ में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को अंतिम चरण साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है| यह साक्षात्कार UPSC के प्रतिष्ठित अधिकारियो द्वारा लिया जाता है,जिसके लिए 275 अंक निर्धारित होते है | इसमें अभ्यर्थी की विचार शक्ति, व्यक्तितत्व, आत्मविश्वास और खुद को प्रस्तुत करने की क्षमता को परखा जाता है | यह इंटरव्यू तक़रीबन 30 से 45 मिनट का होता है |

जब कोई उम्मीदवार तीनो ही चरणों में सफल हो जाता है, तो वह आईपीएस की ट्रेनिंग के योग्य हो जाता है | यह ट्रैनिग तीन वर्ष की होती है, जिसमे उम्मीदवार को पुलिस प्रशासन से जुड़ी हर छोटी से बड़ी गतिविधियों के बारे में बताया जाता है | तीन वर्ष पूर्ण होने के पश्चात् उम्मीदवार को IPS के पद पर नियुक्त कर शपथ दिलाई जाती है |

आईपीएस की योग्यता (IPS Eligibility)

  • आवेदक का किसी भी विषय से स्नातक होना अनिवार्य है |
  • आवेदक भारत, नेपाल और भूटान का नागरिक होना चाहिए |
  • सामान्य श्रेणी वाले प्रत्याशी की आयु 21 से 32 वर्ष होनी चाहिए, तथा वह सिर्फ 6 बार ही इस परीक्षा को देने के योग्य होगा |
  • ओबीसी श्रेणी वाले प्रत्याशी की आयु 21 से 35 वर्ष रखी गयी है, तथा इस श्रेणी में आने वाला उम्मीदवार अधिकतम 9 बार तक एग्जाम दे सकता है |
  • एससी श्रेणी का उम्मीदवार जितनी बार चाहे उतनी बार इस एग्जाम को दे सकता है, इसमें आयु सीमा 21 से 37 वर्ष के मध्य रखी गयी है |
  • जम्मू और कश्मीर के छात्र जो सामान्य श्रेणी के है, वह 37 वर्ष की आयु तक UPSC की परीक्षा दे सकते है | वही ओबीसी श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए आयु सीमा 40 वर्ष रखी गयी है | SC-ST श्रेणी में आने वाले उम्मीदवार 42 वर्ष की आयु तक परीक्षा दे सकते है | इसके अतिरिक्त शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्ति 50 वर्ष तक परीक्षा दे सकता है |

आईपीएस अधिकारी का वेतन (IPS Officer Salary)

वर्तमान समय में एक आईपीएस अधिकारी को 7वें वेतन आयोग के अनुसार आरम्भ में 56,100 रुपये का वेतन प्रतिमाह देय है | इसके अलावा डीजीपी के रैंक पर पहुंचने तक यह वेतन तकरीबन 2 लाख 25 हजार रुपये प्रतिमाह हो जाता है |

आईपीएस अधिकारी का वेतन पदानुसार :-

क्रम संख्यापदवेतन
1.DSP56,100 रूपए
2.ASP67,700 रूपए
3.SP78,800 रूपए
4.SSP1,18,500 रूपए
5.DIG1,31,500 रूपए
6.IG1,44,200 रूपए
7.ADGP2,05,400 रूपए
8.DGP2,25,000 रूपए

आरएएस (RAS) ऑफिसर कैसे बने