यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2023: Bhagya Lakshmi Yojana ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के गरीब परिवार की बालिकाओ को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का आरम्भ किया गया है | इस योजना के तहत राज्य के BPL श्रेणी में आने वाले परिवार में यदि कोई कन्या जन्म लेती है, तो उस कन्या के बेहतर पोषण व देखभाल के लिए उस परिवार को 50 हजार रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी | इसके साथ ही राज्य सरकार बच्ची के जन्म से लेकर शिक्षा के पूर्ण होने तक कक्षा स्तर के अनुसार सहायता राशि प्रदान करती है |

इस योजना के अंतर्गत राज्य के इच्छुक परिवार जो इस योजना के लिए पात्र है, और योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है, तो उसके लिए उन्हें योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होता है | इस लेख में आपको भाग्य लक्ष्मीयोजना ऑनलाइन फॉर्म क्या है, (Bhagya Laxmi Yojana Online Form Apply) तथा भाग्य लक्ष्मी योजना की पात्रता और शर्तें के बारे में जानकारी दी जा रही है |

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की योग्यता

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना क्या है (UP Bhagya lakshmi Yojana)

देश की बेटियों के विकास एवं उनकी आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए केंद्र एवं राज्य सरकारें नई-नई योजनाओ को आरम्भ करती रहती है | ऐसी ही एक यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का आरम्भ उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किया गया है | राज्य के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य की बेटियों के भविष्य को सुधारने और उन्हें शिक्षित कर आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस पहल की शुरुआत की है | इससे गरीब परिवार बेटियों को बोझ नहीं समझेगा और उनके जन्म स्तर में बढ़ोतरी होगी | इस योजना का संचालन प्रदेश में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा किया जायेगा |

गरीब परिवार में जन्म लेने वाली बेटी के भरण पोषण के लिए राज्य सरकार बेटी के नाम पर 50 हजार रूपए की सहायता प्रदान करेगी, साथ ही बेटी की माँ को बेहतर आहार प्राप्त हो सके इसके लिए भी 5100 रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी | जिससे माँ और बच्ची दोनों ही स्वस्थ रह सकेगी | इसके अलावा बालिका की शिक्षा पूरी करने के लिए 6वी, 8वी, 10वी और 12वी की कक्षाओं में उन्हें प्रवेश लेने पर 3 हजार से लेकर 8 हजार रूपए तक की सहायता भी प्रदान की जाएगी |

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के महत्वपूर्ण तथ्य
योजना का नामयूपी भाग्यलक्ष्मी योजना
योजना का आरम्भमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा
वर्ष2023
उद्देश्यबच्चियों के जन्म को बढ़ावा देना तथा उनकी शिक्षा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना
योजना के लाभार्थीउत्तर प्रदेश के गरीब परिवार की बालिकाए
संबंधित विभागमहिला एवं बाल विकास विभाग
Official Websitemahilakalyan.up.nic.in

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत शिक्षा स्तर पर प्राप्त सहायता राशि (UP Bhagya Laxmi Education Level Aid Amount Received)

  • आवेदक बालिका के कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर प्राप्त राशि – 3 हजार रूपए
  • कक्षा 8 में प्रवेश लेने पर प्राप्त सहायता राशि – 5 हजार रूपए
  • 10 वी में प्रवेश लेने पर प्राप्त सहायता राशि – 7 हजार रूपए
  • इंटर (12वी) में प्रवेश लेने पर प्राप्त सहायता राशि – 8 हजार रूपए

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना का मुख्य उद्देश्य (UP Bhagya lakshmi Yojana Main Objective)

प्रदेश सरकार द्वारा आरम्भ की गई यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों के प्रति हो रहे भेदभाव को समाप्त कर उनकी स्थिति को सुधारना है | इससे बेटियों के जन्म पर हो रहे भ्रूणहत्या के अपराधों पर लगाम लगेगी, और बेटियों को भी बराबरी का दर्जा भी मिलेगा | इसके लिए राज्य सरकार बेटियों के जन्म से लेकर उनकी शिक्षा के पूर्ण होने तक सहायता राशि प्रदान करेगी | योजना का लाभ प्राप्त कर गरीब परिवार की बेटियां भी पढ़ लिखकर अपना भविष्य बेहतर बना सकेंगी |

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के लाभ (UP Bhagya lakshmi Yojana Benefits)

  • इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार BPL श्रेणी में आने वाले परिवार को शामिल करेगी |
  • योजना में लाभार्थी परिवार की अधिकतम दो बेटियों को इसका लाभ प्राप्त हो सकेगा |
  • इस योजना के तहत आवेदन करने वाले परिवार में हुई बेटी के जन्म के पश्चात् उसके परिवार को राज्य सरकार द्वारा 50 हजार रूपए की सहायता राशि बेटी के भरण पोषण के लिए प्रदान की जाएगी |
  • आवेदक परिवार में जन्म लेने वाली बेटी के साथ-साथ उसकी माँ को भी 5100 रूपए की सहायता राशि प्रदान की जाएगी, जिससे बच्ची की माँ को भी पोषक आहार प्राप्त हो सके और माँ बेटी दोनों स्वस्थ रह सके |
  • इस योजना के तहत आवेदक बालिका को शिक्षा स्तर के अनुसार भी सहायता राशि भी प्रदान की जाएगी,जिससे वह अपनी आगे की शिक्षा भी पूरी कर सकेगी |
  • योजना में बालिका को 6, 8, 10, और 12वी की शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रवेश लेने पर 3000 से 8000 रूपए की राशि को DBT के माध्यम से सहायता राशि के रूप में सीधा उनके बैंक खाते में वितरित की जाएगी |
  • इस योजना का लाभ प्राप्त कर बालिकाएं शिक्षित होकर आत्मनिर्भर बन सकेंगी |
  • योजना के तहत आवेदक बालिका के 21 वर्ष का हो जाने पर उसके माता-पिता को 2 लाख रूपए की राशि अतिरिक्त सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी |

बीपीएल (BPL) राशन कार्ड क्या है

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना की पात्रता (UP Bhagya lakshmi Yojana Eligibility)

  • इस योजना में केवल उत्तर प्रदेश राज्य के BPL परिवार को शामिल किया गया है |
  • आवेदक परिवार की वार्षिक आय 2 लाख रूपए या उससे कम होनी चाहिए |
  • योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए जन्म लेने वाली बेटी का एक वर्ष के अंदर ही पंजीकरण करवाना होता है |
  • इसके अलावा बच्ची के स्वास्थ्य विभाग द्वारा टीकाकरण भी लगा होना चाहिए, तभी उन्हें इस योजना में आवेदन के लिए पात्र माना जायेगा |
  • एक परिवार की केवल दो बेटिया ही इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकती है |
  • आवेदक बालिका का बैंक खाता होना भी अनिवार्य है |

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज (UP Lucky Scheme Registration Documents Required)

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2023 में आवेदन कैसे करे (UP Bhagya lakshmi Yojana Registration)

  • सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://mksy.up.gov.in/women_welfare/Deptobjective.phpपर जाना होता है |
  • आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आ जाता है |
  • इस होम पेज में आपको यूपी भागलक्ष्मी योजना का PDF फार्म डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा |
  • लिंक पर क्लिक करने के बाद योजना का फॉर्म डाउनलोड हो जाता है, जिसके बाद आप उसका प्रिंट आउट निकल ले |
  • इस निकाले गए प्रिंट आउट में आपको पूछी गई सभी जानकारियों को ठीक तरह से भरना होता है |
  • सभी जानकारियों को ठीक तरह से भरने के बाद संबंधित दस्तावेजों की प्रतिलिपि को फॉर्म के साथ अटैच कर दे |
  • इसके बाद इस फॉर्म को ले जाकर आपको नजदीकी महिला बाल विकास विभाग या आंगनबाड़ी केंद्र में जमा करना होता है |
  • इस तरह से आपका यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना में आवेदन पूर्ण हो जाता है |

आय प्रमाण पत्र (Income Certificate) क्या है