Bitcoin Mining Kya Hai | बिटकॉइन माइनिंग का मतलब क्या है, कैसे करे

आपने बिटकॉइन का नाम तो सुना ही होगा। क्योंकि पिछले कुछ सालों से Share Market में Bitcoin का नाम काफी यूज़ किया जाता है। आपको बता दे कि जिसके भी पास बिटकॉइन है, वह बहुत ही जल्द अमीर होता जा रहा है। क्योकि बिटकॉइन का रेट दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। अब आप सोच रहे होंगे की आखिर बिटकॉइन क्या है, और ये आता कहाँ से है। यदि आप बिटकॉइन के ओर Bitcoin Mining कैसे की जाती है,के विषय में जानना चाहते है। तो हमारे आर्टिकल को पढ़े।

GPS Kya Hai

Bitcoin Kya Hai

बिटकॉइन की शुरुआत वर्ष 2009 में की गई, जो इंटरनेट के माध्यम से इस्तेमाल की जाने वाली एक प्रकार की Virtual Currency है। लेकिन आज के समय में धीरे-धीरे यह बहुत अधिक लोकप्रिय होती जा रही है। आपको बता दे कि एक बिटकॉइन की कीमत अब लाख रूपये के बराबर हो गई है। दूसरे शब्दों में कहें तो अब इस करेंसी को भविष्य की करेंसी के रूप में देखा जा रहा है। बिटकॉइन यह एक प्रकार की Cryptocurrency की Decentralized Currency होती है। जिसका अर्थ है कि किसी भी कंट्री/सरकार का इसपर कोई विशेषाधिकार नहीं होता है। बिटकॉइन के डाटा को दुनिया के विभिन्न देशों में बैठे हजारों की संख्या में Miners कंट्रोल करने में जुटे होते हैं। इसी कारण इसे Decentralized सिस्टम नाम से पुकारा जाता है।

बिटकॉइन का लाभ

  • क्रिप्टो करेंसी का बाजार जो है वह हमेशा खुला रहता है जिसके अंतर्गत आप Bitcoin के लिए कभी भी Trading कर सकते हैं।
  • बिटकॉइन में निवेश करने के लिए किसी भी तरह का पेपर वर्क नहीं करना पड़ता है।
  • बिटकॉइन के अंतर्गत निवेश करने के लिए इन्वेस्टरों को किसी भी प्रकार के paper Work से संबंधित प्रक्रिया को करने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।
  • बिटकॉइन में निवेश करने पर पूरा कंट्रोल व्यक्ति के हाथ में होता है।

बिटकॉइन माइनिंग क्या है

Bitcoin mining का सम्बन्ध सोने की खान जहाँ से लोग सोना खोद के निकालने से नहीं है। बल्कि Bitcoin का सीधा संबंध Computer, Internet, Hardware & Software से होता है जिनके माध्यम से ही Bitcoin को Generate करने का कार्य किया जाता है और फिर इसे यूजिंग प्रोसेस के लिए ऑपरेट किया जाता है। बिटकॉइन करेंसी को व्यापक तौर पर लोगों के द्वारा यूज़ किया जाता है।

Bitcoin Mining की प्रोसेस

  • बिटकॉइन माइनिंग करना आसान नहीं है क्योंकि बिटकॉइन को दुनिया भर में स्थित Miners control करते हैं, यहाँ कोई अकेला आदमी इसे control नहीं कर सकता। इसलिए इसे Decentralized system कहा जाता है।
  • Bitcoin Miners के द्वारा उनसे जुड़ी हुई सभी Details को Blockchain के अंतर्गत Save किया जाता है।
  • बिटकॉइन माइनिंग के माध्यम से ही आप किसी भी Payment Transfer को बेहतर ढंग से करा सकते हैं।
  • बिटकॉइन माइनस के माध्यम से Bitcoin को Generate किया जाता है।
  • आपने बिटकॉइन के माध्यम से कभी किसी भी प्रकार का पेमेंट किया है। अर्थात अपने bitcoin वॉलेट के माध्यम से अपने किसी अन्य व्यक्ति के वॉलेट में बैलेंस को ट्रांसफर किया है तो बता दें इस कार्य में बिटकॉइन Miners अहम भूमिका निभाते है।

Bitcoin Mining कैसे करें

1. Bitcoin Mining Software से हम bitcoin के transaction को process करते है तथा उसे confirm भी किया जाता है। ये Miners इसलिए काम करते हैं क्योकि अगर Transaction को complete कर दें, तो उन्हें जल्द Transaction Processing के लिए users से Transaction Fees मिलती है।

2. एक नयी Transaction को confirm होने के लिए उन्हें एक block में ऐड करना पड़ता है और उसके साथ एक Mathematical Proof Of Work भी देना पड़ता है. इस प्रकार के proof को generate करना बहुत ही difficult है। जिसमे आपके Transaction को confirm करने के लिए system को Billions of Calculation per Second लग जाता है।

3. इसके लिए Miners को चाहिए की वो ये सभी Calculation उनके Block network के द्वरा accept होने के पहले ही कर लें, ताकि उन्हें अपने काम के लिए सही वक़्त में पुरस्कृत किया जा सके। जैसे जैसे ज्यादा Miners mine करने के लिए नेटवर्क में जुड़ेंगे वैसे ही Bitcoin Mining भी आसानी से अपने कार्य को बेहतर तरीके से करने लगेगी।