Bitcoin Kya Hota Hai | बिटकॉइन क्या है और इसमें कैसे निवेश करें

Bitcoin Kya Hai :- आज के इस लेख  के तहत हम आपको Bitcoin से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले हैं। बिटकॉइन डिजिटल करेंसी है। जो की पूरी सूची से मुक्त रूप से कार्य करती है या आप कह सकते हैं कि इसपर किसी बैंक सरकार का कोई भी कंट्रोल नहीं होता है। एक ऐसी करेंसी जो की पूरी तरह सफल होती है। इसे आप गैस का ऑनलाइन वर्ज़न समझ सकते हैं। इसका कारण है, कि व्यक्ति है जिसके तहत अधिकार का इस्तेमाल किया जाता है। यानी कि बिटकॉइन एक decentralized digital cash होती है। चलिए तो Bitcoin से जुड़ी सभी जाणकारी प्राप्त करने हेतु लेक को पूरा पढ़ना शुरू करते है।

Bitcoin Kya Hai

बिटकॉइन क्या है – What is Bitcoin in Hindi

चलिए अब जानते हैं, कि बिटकॉइन क्या होता है। बिटकॉइन एक विकेंद्रीकृत मुद्दा है। जिसका अर्थ है ,कि यह किसी विशिष्ट देश या राज्य की मोटा से कोई भी संबंध नहीं रखती है। यह ब्लॉकचेन तकनीकी के शीर्ष पर बनी मुद्रा होती है। इसके साथ ही बिटकॉइन के साथ किए गए लेनदेन सार्वजनिक रूप से कालानुक्रमिक रूप से ब्लॉकेज पर संबोधित किया जाता है। यानी अब तक व्यक्ति द्वारा किए गए सभी लेनदेन की जानकारी व्यक्ति आसानी से प्राप्त कर सकता है। बिटकॉइन को सबसे पहले 2009 में व्यक्ति या समूह द्वारा Satoshi Nakamoto नाम से लोगों में प्रदर्शित किया गया था।

बीपीएल (BPL) राशन कार्ड क्या है 

जिसका अर्थ नकदी का डिजिटल संकरण बनाने का तरीका था। एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को किसी वित्तीय संस्थान या अन्य बिचौलिए के तहत भुगतान किए बिना भुगतान किया जा सकता था।  बिटकॉइन का इस्तेमाल किसी भी व्यक्ति द्वारा किया जा सकता है। जैसे आज के समय हम सब इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं और इसका भी कोई मालिक नहीं है। इसी तरह से बिटकॉइन का इस्तेमाल भी सभी कर सकते हैं।

बिटकॉइन का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

अब सवाल यह आता है,कि बिटकॉइन का इस्तेमाल क्यों किया जाता है।  इसका इस्तेमाल हम आसानी से ऑनलाइन पेमेंट करने हेतु किसी भी तरीके से कर सकते हैं। जो कुछ भी हम खरीदते हैं। Bitcoin peer to peer network based पर  कार्य करता है। जिसका अर्थ आप ऐसे समझ सकते हैं,कि लोग एक दूसरे के साथ सीधा बिना किसी बैंक, क्रेडिट कार्ड या फिर किसी कंपनी के माध्यम से आसानी से ट्रांज़ैक्शन की प्रक्रिया को पूर्ण कर सकते हैं। अब तक तो बिटकॉइन को ट्रांजेक्शन की प्रक्रिया को पूर्ण करने के लिए सबसे तेज माना जाता है।

इस समय बहुत से लोग बिटकॉइन्स को अपना रहे हैं। जैसे  online developers, entrepreneurs, non-profit organisations आदि। इसकी वजह से ही बिटकॉइन का इस्तेमाल दुनिया भर में अधिक किया जा रहा है और इसे पसंद भी काफी किया जा रहा है। हमें बाकी currencies का इस्तेमाल करते हैं। ऑनलाइन प्रशिक्षण करने में तो बैंक के पेमेंट प्रोसेस को फॉलो करना व्यक्ति के लिए जरूरी होता है। तभी जाकर आप पेमेंट कर सकते हैं। बैंक वह सब विवरण दर्ज हो जाता है की आपके द्वारा कितना transactions किया गया है। परंतु बिटकॉइन का कोई भी मालिक नहीं है उसके साथ एक पब्लिक खाते में रिकॉर्ड होता रहता है। जिसे bitcoin “blockchain” केहते हैं।

बिटकॉइन आज का रेट

यदि की बात की जाए आज के समय बिटकॉइन के रेट की तो बिट कॉइन की वैल्यू आज के दिन में करीबन  $15,456 है। इसका मतलब है, कि बिटकॉइन की वैल्यू Rs. 10,65,000 है। बिटकॉइन वैल्यू कम या ज्यादा होती रहती है ,क्योंकि इस को कंट्रोल करने के लिए कोई भी अथॉरिटी नहीं है। इस कारण इसकी वैल्यू इसके डिमांड के हिसाब से हमेशा बदलती रहती है।

बिटकॉइन वॉलेट क्या है?

आप बिटकॉइन को सिर्फ इलेक्ट्रॉनिकली स्टोर करके रख सकते हैं। इसे रखने के लिए आपके पास बिटकॉइन वॉलेट होना बहुत ज्यादा जरूरी है। बिटकॉइन वॉलेट बहुत से प्रकार जैसे कि डेक्सटॉप वॉलेट, मोबाइल वॉलेट, ऑनलाइन, वेब बेस्ट वॉलेट, हार्डवेयर वॉलेट आदि का हो सकता है। यह वॉलेट हमें एड्रेस के रूप में यूनीक आईडी प्रदान करता है। जैसे कि आप समझ लीजिए कि आपने कहीं से बिटकॉइन कमाया है और उसको आपको अपने अकाउंट में स्टोर करना है।

आपको वहां पर उस एड्रेस की जरूरत पड़ेगी और उसी की मदद से आप बिटकॉइन को अपने वॉलेट में रख सकते हैं। इसके साथ ही यदि आप bitcoin खरीदते है या बेचना है तो आपको बिटकॉइन बेचते की जरूरत उस समय भी पड़ेगी इसके पश्चात ही आज जो बिटकॉइन भेज सकते हैं या उसे बदल सकते हैं. जितने भी पैसे मिलते हैं उसमें वह आप अपने बैंक अकाउंट में भी ट्रांसफर बिटकॉइन वॉलेट के माध्यम से कर सकते हैं।

बिटकॉइन कैसे कमाए

अब सबसे जरूरी सवाल यह आता है,कि बिटकॉइन से कमाया कैसे जा सकता है। बिटकॉइन से हम 3 तरीकों से कमा सकते हैं।

जिसका पहला तरीका यह है कि अगर आपके पास पैसा है। तो आप एक बिटकॉइन $999 का खरीद सकते हैं। और अगर आप खरीद नहीं सकते है। तो सबसे छोटी यूनिट संतोषी को भी खरीद सकते हैं। हमारे भारत में एक रुपए में सौ पैसे होते हैं ठीक उसी तरीके से एक बिटकॉइन में 10 करोड़ संतोषी होते हैं। तो अगर आप चाहे तो बिटकॉइन की सबसे छोटी रकम संतोषी को आसानी से खरीद सकते हैं। उसे ज्यादा पैसे जमा कर सकते हैं। जब इसका प्राइस बढ़ जाए। तब आप इसे बेच सकते हैं और ज्यादा पैसे कमा सकते हैं।

अब दूसरा तरीका यह है कि यदि आप ऑनलाइन किसी को भी सामान बेच रहे हैं और उस खरीदार के पास बिटकॉइन है. तो आप उसे पैसे के बदले में Bitcoin पैसे के बदले में ले सकते हैं। ऐसे में आपको उन्हें वह सामान भेज देंगे। आपको बिटकॉइन भी मिल जाएगा। मिलने वाले बिटकॉइन आपके बिटकॉइन वॉलेट  स्टार्ट हो जाएगा।

इसका तीसरा तरीका से कमाने का bitcoin mining है ,कि आप बिटकॉइन मीनिंग इसके लिए आपको हाई स्पीड प्रोसेसर वाले कंप्यूटर की जरूरत पड़ती है। इसका हार्डवेयर काफी अच्छा कार्य करता है। जब आप बिटकॉइन का इस्तेमाल से ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए करते हैं। तो कभी-कभी कोई bitcoin से पेमेंट करता है तो उस कार्य को आप वेरीफाई कर दें। वेरीफाई करते ही उन्हें आप मिले miners के पास आप हाई परफॉर्मेंस कंप्यूटर और जीपीयू होता है। इसी के माध्यम से ट्रांज़ैक्शन को वेरीफाई करते हैं। ट्रांज़ैक्शन सही तरीके से हो पाई है या नहीं इस बात का उससे पता चल जाता है। इसके  वेरिफिकेशन के बदले आप कुछ इनाम के तौर पर bitcoins जीत पाते हैं और इस तरीके से आपने बिटकॉइन में बाजार ला सकते हैं।

बताए गए तीसरे तरीके को कोई भी व्यक्ति कर सकता है ,परंतु उसके लिए जरूरत है हाई स्पीड कंप्यूटर की जैसे कि हर देश में करेंसी को 1 साल में छापने की सीमा होती है कि आप 1 साल में इतने नोट भी छाप सकते हैं। तो ठीक उसी तरीके से बिटकॉइन की भी कुछ ऐसी ही सीमाएं हैं कि आप ज्यादा से ज्यादा  21 million से ज़्यादा मार्केट में नहीं ला सकते हैं। इस समय तक बाजार में 13 million bitcoin आ चुका है। इसके साथ ही अब मीनिंग के साथ आ रहे हैं।

Bitcoin में व्यापार कैसे करते हैं?

आपको बता दें कि बिटकॉइन डिजिटल वोल्टेज में से होता है इस कारण इसकी कीमत हर जगह एक नहीं होती है इसकी कीमत स्थिर होती है. यह दुनिया भर की गतिविधियों पर ही निर्भर करती है। क्रिप्टो ट्रेनिंग का कोई भी समय तय नहीं होता है। इसकी कीमत में उतार-चढ़ाव हमेशा आते रहते हैं।

बिटकॉइन माइनर क्या होता है?

प्रत्येक देश में करेंसी मुद्दा नोट छापने की एक सीमा है। उस तरीके से बिटकॉइन की दुनिया में बिटकॉइन बनाने पर भी परिसीमन होती है। बिटकॉइन में लिमिटेशन है कि आप 21 मिलियन से ज्यादा मार्केट में इसे नहीं उतार सकते हैं। इस समय तो यह 13 मिलियन के करीब है। जो नई बिटकॉइन है वह माइनिंग के जरिए आते हैं। माइनिंग यानि मान ले की आपको बिटकॉइन भेजना है तो आपसे भेजने की प्रक्रिया को वेरीफाई करते हैं। तो वेरीफाई करने वालों को माइनर कहते हैं। जिसके पास उस शक्ति का कंप्यूटर होता है। इस कंप्यूटर से बिटकॉइन ट्रांजैक्शन को वेरीफाई आसानी से कर देता है।

बिटकॉइन के फायदे

  • बिटकॉइन को आप दुनिया भर में कहीं भी भेज सकते हैं। वह भी बिना किसी समस्या के साथ।
  • यदि आप लॉन्गटन हेतु बिटकॉइन में इन्वेस्ट करते हैं। तो आपको इससे अधिक फायदा हो सकता है क्योंकि ऐसा रिकॉर्ड में देखा गया है, कि बिटकॉइन की कीमत लगातार बढ़ रही है। तो आगे चलकर व्यक्ति को फायदा हो सकता है।
  • बिटकॉइन की प्रशिक्षण प्रक्रिया सरकार या किसी अथॉरिटी कोई सम्बन्ध नहीं है। इस कारण आपके ऊपर कोई  नजर नहीं रखती है। तो  बहुत से लोग हैं। जो इसका इस्तेमाल गलत काम करने के लिए करते हैं। और काफी फायदा प्राप्त करते है।
  • बिटकॉइन में आपका transaction fee credit card और debit card से payment कम होता है।
  • जिस प्रकार कभी-कभी बैंक या क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड हमारे अकाउंट को ब्लॉक कर देते हैं ,परंतु बिटकॉइन पर हमारे अकाउंट को ब्लॉक भी नहीं किया जाता है।

बिटकॉइन के नुकसान

  • यदि कभी आपका अकाउंट हैक कर दिया जाता है। तो आप अपने सारे bitcoins खो देंगे और इसे वापस भी नहीं लाया जा सकता।
  • जैसा की हमने आपको बताया की bitcoin को control करने के लिए कोई authority, bank या सरकार नहीं है। तो इस कारण इसमें काफी उतार चढ़ाव  है। जोकि आपके लिए काफी रिस्की हो सकता है।

बिटकॉइन कैसे खरीदें?

बिटकॉइन की खातिरदारी सोने के समान है। भारत के निवासी कुछ वेबसाइट के तहत Bitcoin खरीद सकते हैं।

  • Wazirx
  • Unocoin
  • Zebpay