यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन | पात्रता | दस्तावेज | UP Free Boring Yojana Form

प्रत्येक किसान अपनी फसलों से बेहतर उत्पादन प्राप्त करनें के लिए दिन-रात अत्यधिक परिश्रम करते है, लेकिन फसलों को समय पर पानी न मिलेने के कारण उनकी फसलें सूख जाती है | ऐसे में उन्हें आर्थिक रूप से काफी नुकसान उठाना पड़ता है | किसानों की इस समस्या को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निःशुल्क बोरिंग योजना का शुभारम्भ किया है | इस स्कीम के शुरू होनें से अब राज्य के किसान भाई अपनें खेतों में निःशुल्क बोरिंग करवानें के पश्चात अपनी फसलों को समय से पानी उपलब्ध करा सकेंगे |

इस स्कीम द्वारा राज्य के सामान्य वर्ग, एससी, एसटी वर्ग के लघु एवं सीमांत कृषकों को सिंचाई के लिए उनके खेतों में बोरिंग की सुविधा प्रदान की जाएगी | यहाँ तक कि पम्प सेट अर्थात ईंजन आदि के लिए बैंक से ऋण उपलब्ध कराया जायेगा | यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन कैसे करे, इसके लिए पात्रता क्या रखी गई है, तथा जरूरी दस्तावेज़ की जानकारी दी गई है |

उत्तर प्रदेश धान खरीद रजिस्ट्रेशन

यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना 2022 क्या है (UP Free Boring Scheme 2022)

केंद्र सरकार द्वारा किसानों की आय वर्ष 2022 तक दोगुना करनें के लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे है | केंद्र सरकार के साथ ही राज्य सरकारें भी अपना पूरा योगदान दे रही है | किसानों को समय पर पानी उपलब्ध कराने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा फ्री बोरिं योजना की शुरुआत की गयी है | इस योजना के माध्यम से राज्य के छोटे और सीमान्त किसानों के खेतों में निशुल्क बोरिंग करायी जाएगी |

सामान्य वर्ग के अंतर्गत आने वाले ऐसे कृषक जिनके पास 2 हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि है, वह स्कीम का लाभ प्राप्त कर सकते है | इसके अलावा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़ा वर्ग के अंतर्गत आने वाले किसानों के लिए कृषि योग्य भूमि की कोई सीमा निर्धारित नही है | यदि जनरल कैटेगरी में आने वाले किसान भाइयों के पास भूमि 2 हेक्टेयर से कम है, तो वह इस योजना का लाभ किसानों का समूह बनाकर प्राप्त कर सकते है |             

उत्तर प्रदेश राज्य के ऐसे क्षेत्र जहाँ बोरिंग सक्सेस नही होती है या वह बोरिंग करना संभव नही है | ऐसे क्षेत्रों में बोरिंग इनवेल या वैगन ड्रिल मशीन से कराने की व्यवस्था की जाएगी | हालाँकि ऐसी स्थिति में किसान भाइयों को राज्य सरकार द्वारा द्वारा निर्धारित सीमा तक ही अनुदान दिया जायेगा, इसके अलावा बोरिंग में आने वाले अतिरिक्त व्यय का वहन किसानों को स्वयं करना होगा |

यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना का उद्देश्य (Purpose of UP Free Boring Scheme)

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निःशुल्क बोरिंग (नलकूप) योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के छोटे व सीमांत किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्त सुविधा उपलब्ध करना है, इसके साथ ही उन्हें पंप सेट लगाने के लिए बैंक से ऋण उपलब्ध कराना है | सरकार द्वारा शुरू की गयी इस पहल से किसानों की आय में वृद्धि होनें के साथ ही उनके जीवन स्तर में सुधार होगा | सबसे खास बात यह है, कि अब किसानों को अपनी फसल उगाने के लिए बारिश या किसी अन्य साधनों की व्यवस्था करनें से मुक्ति मिलेगी |        

यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना के अंतर्गत अनुदान (Grant under UP Free Boring Scheme)

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निःशुल्क बोरिंग योजना के अंतर्गत किसान भाइयों द्वारा अपनें खेतों में बोरिंग कराने पर सामान्य वर्ग के लघु किसानों को 5 हजार और सीमांत किसान भाइयों को 7 हजार रुपये का अनुदान दिया जायेगा | हालाँकि इसके लिए किसानों के पास 0.2 हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि होना आवश्यक है | सामान्य श्रेणी के कृषकों की बोरिंग पर पंपसेट स्थापित करना अनिवार्य नहीं है परन्तु पंपसेट खरीदने पर लघु किसानों को अधिकतम 4 हजार 500 रुपये और सीमांत किसानों को 6 हजार रुपये का अनुदान प्रदान किया जायेगा।

अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के किसनों अपने खेतों में बोरिंग कराने पर उन्हें 10 हजार रुपये की अनुदान राशी प्रदान की जाएगी और इन वर्ग के किसानों के लिए भूमि के साथ ही अपने खेतों पर पंपसेट स्थापित करने की कोई बाध्यता नहीं है।  यदि किसानों की दी गयी अनुदान राशि में धनराशि शेष बचती है, तो वह इस धनराशि का उपयोग रिफ्लेक्स वॉल्व, डिलिवरी पाइप, बेंड आदि सामग्री खरीदनें में कर सकते है | इस वर्ग के किसानों पंपसेट लगाने के लिए 9 हजार रुपये का अनुदान दिया जायेगा।

PM किसान सम्मान निधि योजना

अनुदान राशि का विवरण (एक दृष्टी में)

किसान की श्रेणी बोरिंग निर्माण हेतुपंपसेट हेतु
सामान्य श्रेणी के लघु किसान3000 रु० प्रति बोरिंग2800 रु०प्रति पंप सेट
सामान्य श्रेणी के सीमांत किसान4000 रु० प्रति बोरिंग3750 रु०प्रति पंप सेट
अनुसूचित जाति, जनजाति के लघु एवं सीमांत किसान6000 रु० प्रति बोरिंग5650 रु०प्रति पंप सेट

यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना की पात्रता (UP Free Boring Scheme Eligibility)

  • योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु आवेदक को उत्तर प्रदेश राज्य का स्थायी नागरिक होना आवश्यक है |
  • उत्तर प्रदेश राज्य के लघु एवं सीमान्त वर्ग के सभी कृषक इस स्कीम में आवेदन के लिए पात्र मने जायेंगे ।
  • सामान्य वर्ग के किसान भाइयों के पास 0.2 हेक्टेयर या इससे अधिक कृषि योग्य भूमि  होना आवश्यक है।
  • एससी/एसटी वर्ग के किसानों के लिए कृषि योग्य भूमि से सम्बंधित कोई सीमा निर्धारित नहीं है, इसके अलावा यदि वह किसी अन्य योजना का लाभ प्राप्त कर रहे है, तो भी वह इस योजना के लिए पात्र माने जायेंगे |

यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना के दस्तावेज (UP Free Boring Scheme Documents)

यूपी निशुल्क बोरिंग योजना हेतु ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया (Online Application Process for UP Free Boring Scheme)

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करनें के लिए आपको लघु सिंचाई विभाग, उत्तर प्रदेश की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामनें वेबसाइट का होम पेज ओपन होगा, यहाँ आपको  योजनाएं के आप्शन पर क्लिक करना है।
  • अब आपको नीचे की तरफ  आवेदन पत्र  का आप्शन दिखाई देगा, आपको इस आप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने पीडीएफ फॉर्मेट (PDF Format) में एप्लीकेशन फॉर्म ओपन होगा, आपको इस फॉर्म का प्रिंट निकालना होगा |  
  • अब आपको इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, पता आदि दर्ज  करनें के पश्चात सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना होगा।
  • एप्लीकेशन फॉर्म कम्प्लीट करनें के पश्चात आपको अपनें नजदीकी लघु सिंचाई विभाग में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार आप यूपी निशुल्क बोरिंग योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकेंगे।

संपर्क विवरण (Contact Details)

कार्यालय का पतामुख्य अभियंता, लघु सिंचाई विभाग, तृतीय तल, उत्तर विंग, जवाहर भवन, लखनऊ 226001
फोन नंबर2286627 / 2286601 / 2286670
फैक्स नंबर2286932
ईमेल आईडीmilu-up@nic.in

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) योजना