टीचर (Teacher) कैसे बने | शिक्षक भर्ती | योग्यता | कोर्स से संबंधित पूरी जानकारी

टीचर (Teacher) बनने से सम्बन्धित जानकारी

शिक्षक पद एक आदरणीय पद होता है पुराने समय में शिक्षक को गुरु कहा जाता था गुरु का स्थान ईश्वर से भी ऊपर रखा गया है | शिक्षा के द्वारा ही मनुष्य  शिक्षित, सभ्य  एवं सुसंस्कृत बनता है तथा मनुष्य में यह योग्यता एक शिक्षक के द्वारा उचित शिक्षण के माध्यम से आती है| शिक्षण देना एक सम्माननीय कार्य है | जिसके माध्यम से संसार का प्रत्येक मनुष्य शिक्षित होता है शिक्षक बनने के लिए अध्यापन कार्य में रूचि होना अति आवश्यक होता है, वर्तमान समय में अधिकतर छात्र शिक्षा के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते है | लेकिन बहुत से लोगो को यह जानकारी नहीं होती है की शिक्षण कार्य करने के लिए शिक्षक की क्या योग्यता होती है कौन-कौन से परीक्षाएं पास करनी होती है तथा क्या डिग्री होनी चाहिए आदि आज शिक्षक बनने के सम्बन्ध में हम आपको इस पृष्ठ पर सम्पूर्ण जानकारी से अवगत कराएँगे|   

सरकारी शिक्षक के प्रकार

सरकार के द्वारा शिक्षकों को तीन वर्गों में विभाजित किया गया है, वह इस प्रकार है:-

1. प्राथमिक शिक्षक (Primary Teacher)

2. प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (Trained Graduate Teacher)

3. स्नातकोत्तर शिक्षक (Post Graduate Teacher)

प्राथमिक शिक्षक (Primary Teacher)

प्राथमिक शिक्षक का चयन केंद्र या राज्य सरकार के द्वारा शिक्षक भर्ती परीक्षा आयोजित कर होता है इसके लिए इंटरमीडियट 50% अंक से पास होना तथा स्नातक होना आवश्यक है साथ ही डीएलएड या बीटीसी पास होना आवश्यक होता है  | शिक्षक भर्ती, परीक्षा से प्राप्त अंको की मेरिट सूंची के आधार पर होता है | प्राथमिक शिक्षक को 1 से 5 तक के छात्रों को पढ़ाना होता है|

प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (Trained Graduate Teacher)

प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक के लिए आपके पास स्नातक की डिग्री के साथ बी एड  (Bachelor Of Education)  की डिग्री होना आवश्यक है तथा  बीएड का प्रशिक्षण दो साल का होता है, तभी आप टीजीटी (TGT) की प्रवेश परीक्षा दे सकते है, प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक को कक्षा 6 से 10 तक के छात्रों को पढ़ाना होता है|

स्नातकोत्तर शिक्षक (Post Graduate Teacher)

स्नातकोत्तर शिक्षक के लिए आपके पास परास्नातक की डिग्री के साथ बीएड  (Bachelor Of Education)  की डिग्री अच्छे अंको के साथ होना आवश्यक है तभी आप  पीजीटी (PGT) की प्रवेश परीक्षा दे सकते है, स्नातकोत्तर शिक्षक को कक्षा 11 से 12 के छात्रों को पढ़ाना होता है|

शिक्षक बनने के लिए प्रमुख परीक्षाएं

प्रतिस्पर्धा के इस युग में किसी भी क्षेत्र में अपना भविष्य बनाने के लिए प्रतियोगी परीक्षाओ से गुजरना पड़ता है शिक्षक बनने के लिए योग्यता के साथ-साथ कई प्रतियोगी परीक्षाएं भी उत्तीर्ण करना होता है शिक्षक पद के लिए प्रतियोगी परीक्षाएं इस प्रकार है:-

1. टीईटी (टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट)

राज्य सरकार के द्वारा टीईटी (TET) परीक्षा का आयोजन डीएड तथा बीएड पास छात्रों के लिए होता है बीएड के बाद टीईटी परीक्षा को पास करना आवश्यक है वह छात्र भी इस परीक्षा में सम्मिलित हो सकते है जिनका बीएड का परिणाम नहीं आया होता है इसके अंतर्गत राज्य सरकार के द्वारा प्रमाणपत्र दिया जाता है |

2. सीटीईटी (सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट)

राजधानी दिल्ली के अंतर्गत आने वाले केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय तथा तिब्बती स्कूल में शिक्षक पद के लिए यह परीक्षा को उत्तीर्ण करना आवश्यक है, इस परीक्षा में स्नातक तथा बीएड पास छात्रों को ही प्रवेश दिया जाता है, इस परीक्षा का आयोजन  सीबीएसई द्वारा किया जाता है, इस परीक्षा में छात्र  को 60 फीसदी अंक लाना अनिवार्य होता है |

3. टीजीटी और पीजीटी

टीजीटी और पीजीटी परीक्षा का आयोजन राज्य स्तर पर किया जाता है, टीजीटी के लिए स्नातक के साथ बीएड पास होना आवश्यक है कक्षा छ: से 10वीं कक्षा के छात्रों को पढ़ने के लिए नियुक्त किये जाते है| पीजीटी के लिए परास्नातक के साथ बीएड की डिग्री होनाआवश्यक है, सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी के छात्रों के लिए इनकी नियुक्ति होती है|

4. बीएड (बैचलर ऑफ एजुकेशन)

बीएड की परीक्षा शिक्षण के क्षेत्र में जाने के लिए देना आवश्यक होता है इसके लिए स्नातक पास होना अनिवार्य होता है प्रतिवर्ष बीएड प्रवेश परीक्षा का आयोजन होता रहता है इसके लिए प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य है|

5. बीपीएड (बैचलर इन फिजिकल एजुकेशन)

जिन छात्रों ने शारीरिक शिक्षा को स्नातक स्तर पर पढ़ा है वह छात्र एक वर्ष का बीपीएड कोर्स कर सकते है तथा जिन छात्रों ने इंटरमीडिएट में शारीरिक शिक्षा पढ़ा है वह तीन वर्ष का स्नातक कोर्स कर सकते है इसमें प्रवेश परीक्षा के साथ लिखित परीक्षा भी होती है, प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद साक्षात्कार भी पास करना अनिवार्य होता है|

6. एनटीटी (नर्सरी टीचर ट्रेनिंग)

एनटीटी कोर्स दो वर्ष का होता है इस कोर्स में प्रवेश इंटरमीडिएट के अंको के आधार दिया जाता  है कई जगह प्रवेश परीक्षा भी होती है जिसमे हिंदी, अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान, करंट अफेयर, रीजनिंग तथा टीचिंग एप्टीटुड से सम्बंधित सवाल पूछे जाते है इस कोर्स के बाद छात्र प्राइमरी शिक्षक के योग्य हो जाता है|

7. बीटीसी (बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट)

बीटीसी कोर्स के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के छात्र ही सम्मिलित हो सकते है इस परीक्षा के लिए स्नातक होना आवश्यक है तथा यह कोर्स दो वर्ष का होता है इस कोर्स को करने के लिए सर्वप्रथम प्रवेश परीक्षा पास करना अनिवार्य होता है इसके लिए जिले स्तर पर काउंसलिंग कराई जाती है इसके लिए आयु सीमा 18 से 30 वर्ष निर्धारित की गयी है|

8. जेबीटी (जूनियर टीचर ट्रेनिंग)

जेबीटी कोर्स के लिए न्यूनतम योग्यता इंटरमीडिएट है यह कोर्स में प्रवेश कुछ जगह मेरिट तथा प्रवेश परीक्षा के आधार पर होता है इस कोर्स के बाद छात्र प्राइमरी शिक्षक के योग्य हो जाता है|

9. डीएड (डिप्लोमा इन एजुकेशन)

मध्य प्रदेश तथा बिहार में यह कोर्स शिक्षक पद के लिए कराया जाता है इंटरमीडिएट के अंको के आधार पर इस कोर्स में प्रवेश मिलता है यह कोर्स दो वर्ष का होता है|

शिक्षक बनने के लिए आवश्यक निर्देश

शिक्षण के क्षेत्र में भविष्य बनाने के लिए यदि आप इच्छुक है तो आपको दिए गए निर्देशानुसार तैयारी करनी होगी जो इस प्रकार है:-

1. शिक्षक बनने के लिए सर्वप्रथम इंटरमीडिएट तथा  स्नातक की परीक्षा अच्छे अंको से उत्तीर्ण करे|

2. प्रत्येक शिक्षक अपने पसंदीदा विषय में पारंगत होता है अतः आप जिस विषय के शिक्षक बनना चाहते है उस विषय पर विशेष ध्यान दे|

3. स्नातक की परीक्षा 50% अंको के साथ उत्तीर्ण करके बीएड कोर्स में प्रवेश ले, यह कोर्स दो वर्ष का होता है|

4. बीएड की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद टीईटी ( टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट) या सीटीईटी (सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट) की प्रवेश परीक्षा पास करना अनिवार्य होता है|

5. इसके बाद प्राप्तांक तथा प्रतिशत के आधार पर आपकी शिक्षक पद पर नियुक्ति होती है|

शिक्षक सम्बन्धी ये कोर्स करने के बाद आप सरकारी तथा व्यक्तिगत दोनों क्षेत्रो में नौकरी का चयन कर सकते है तथा नौकरी के आलावा आप किसी कोचिंग या शिक्षण संस्थान में आप शिक्षक पद पर कार्य कर सकते है साथ ही स्वयं का कोचिंग संस्थान भी चला सकते है |

इस पृष्ठ पर हमने आपको सरकारी तथा  निजी शिक्षक बनने, उससे सम्बंधित कोर्स, योग्यता आदि की जानकारी उपलब्ध करायी गयी है अब उम्मीद  है कि आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी|